Patrika Hindi News

 महिलाओं ने महिला प्रत्याशियों को पसंद किया या नहीं!

Updated: IST female voters
इस चुनाव में बसपा छोड़कर सभी पार्टियों ने महिला प्रत्याशियों को टिकट ​थमाया।

आगरा। मतदान के लिए कई बार महिलाएं पीछे रह जाती थी, लेकिन इस बार के चुनावों में ये कम ही देखने को मिल रहा है। आगरा में हुए पहले चरण के मतदान में महिलाओं ने जमकर वोट डाले। इस चुनाव में बसपा छोड़कर सभी पार्टियों ने महिला प्रत्याशियों को टिकट ​थमाया। मतदान में इस बार महिलाओं ने फतेहाबाद विधानसभा सीट पर रिकॉर्ड कायम किया, अब देखना होगा कि महिला प्रत्याशियों को महिलाओं ने कितना पसंद किया है।

बसपा ने नहीं उतारी महिला प्रत्याशी
महिला प्रत्याशियों की बात की जाए, तो आगरा में बसपा एक मात्र ऐसी पार्टी थी, जिसका मुखिया खुद महिला होते हुए भी आगरा की नौ विधानसभा सीटों पर एक भी महिला को टिकट नहीं दी गई। महिलाओं में इस बात को लेकर कुछ रोष जरूर नजर आया था। कटरा वजीर खां निवासी शाहिदा बी का कहना है कि बसपा की मुखिया ने आगरा में महिलाओं को टिकट न देकर ठीक नहीं किया। उन्हें महिलाओं पर भरोसा करना चाहिए था।

ये महिला प्रत्याशी मैदान में
इस चुनाव में सबसे अधिक महिला प्रत्याशी मैदान में हैं। चार प्रमुख पार्टियों की बात की जाए, तो सपा ने एत्मादपुर विधानसभा सीट से राजा बेटी बघेल को चुनावी मैदान में उतारा है। वहीं बाह से अंशुदेवी निषाद और छावनी सीट से ममता टपलू को प्रत्याशी बनाया है। भाजपा ने इस बार बाह विधानसभा सीट से रानी पक्षालिका सिंह को टिकट थमाई, तो आगरा ग्रामीण से हेमलता दिवाकर को मैदान में उतारा। वहीं निर्दलीय के रूप में फतेहपुरसीकरी सीट से वंदना शर्मा मैदान में हैं। तो आगरा उत्तर सीट से कुंदनिका शर्मा। कांग्रेस ने इस बार गठबंधन प्रत्याशी के रूप में कुसुमलता दीक्षित को टिकट दिया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???