Patrika Hindi News
Bhoot desktop

विशेष इंटरव्यू- अगर कैल्शियम सप्लीमेंट ले रहे हैं तो जान लें ये बातें

Updated: IST Calcium Suppliments
विशेषज्ञ की राय एक्सट्रा कैल्शियम शरीर को कई तरह से नुकसान पहुंचा सकता है।

शुचिता मिश्रा, आगरा। हम सब जानते हैं कि हड्डियों की मजूबती के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी होता है, इसलिए कई बार बिना किसी सलाह के ही कैल्शियम सप्लीमेंट बाजार से खरीदकर खुद ही खाने लगते हैं। लेकिन जिस तरह कैल्शियम की कमी शरीर के लिए नुकसानदायक है, उसी तरह इसकी अधिक मात्रा भी आपको कई बीमारियां दे सकती है। इस बारे में पत्रिका डॉट कॉम ने आगरा के वरिष्ठ हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ धर्मवीर शर्मा से की खास बातचीत। पेश हैं प्रमुख अंश—

प्रश्न: कैसे समझें कि शरीर में कैल्शियम की कमी है?

उत्तर: अस्थियों की मजबूती के लिए कैल्शियम के अलावा विटामिन डी भी जरूरी होता है क्योंकि विटामिन—डी की मदद से ही कैल्शियम शरीर में अवशोषित होता है। यदि विटामिन—डी शरीर में कम होगा तो कैल्शियम अपने आप कम हो जाएगा क्योंकि इसका अवशोषण नहीं हो पाएगा। ऐसे में व्यक्ति को हाथ—पैरों में दर्द, थकान, जोड़ों में दर्द, या पूरे शरीर में अक्सर दर्द रहने की समस्या होने लगती है।

प्रश्न: इस स्थिति में क्या करें?

उत्तर: विशेषज्ञ की सलाह से जरूरी टैस्ट कराएं और दी गई दवा और निर्देशों का पालन करें।

प्रश्न: खुद से सप्लीमेंट लेने से क्या हो सकता है?

उत्तर: शरीर को कितने कैल्शियम की जरूरत है ये रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टर निर्धारित करते हैं। कई बार कैल्शियम प्राकृतिक स्रोत से ही मिल जाता है, दवाओं की जरूरत नहीं पड़ती। लेकिन अगर आपने खुद से ऐसा कोई सप्लीमेंट लिया और वो आवश्यकता से अधिक हो गया तो कई बार शरीर में स्टोन की समस्या और हड्डी में कड़ापन आ सकता है। साथ ही किडनी और हृदय संबंधी समस्या भी हो सकती है।

प्रश्न: सामान्य रूप से व्यक्ति को दिन में कितने कैल्शियम की जरूरत होती है?

उत्तर: सामान्य व्यक्ति को 1000 मिलीग्राम प्रतिदिन और गर्भवती महिला को 1500 मिलीग्राम कैल्शियम प्रतिदिन लेना चाहिए।

प्रश्न: इसके प्राकृतिक स्रोत क्या हैं?

उत्तर: हरी सब्जियां, दूध और दूध से बने प्रोडक्ट, इसके अलावा विटामिन—डी के लिए सुबह की धूप में जरूर बैठें। ताकि विटामिन—डी की पूर्ति बनी रहे और लिया गया कैल्शियम अवशोषित हो जाए।

प्रश्न: सामान्य रूप से रोजाना कितनी डाइट से कैल्शियम मिल जाता है?

उत्तर: रोजाना कम से कम दो गिलास दूध या उससे बने पदार्थ और हरी सब्जियां खाएं, इससे शरीर को जरूरी कैल्शियम मिलता रहेगा। प्रेग्नेंट ​महिला को यदि अधिक आवश्यकता होगी तो विशेषज्ञ जरुरत के मुताबिक उसे अलग से सप्लीमेंट भी दे देते हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???