Patrika Hindi News
UP Scam

कुंडली में दोष है, तो महाशिवरात्रि पर करें पूजा, दूर होंगे कष्ट

Updated: IST Mahashivratri
यदि कुंडली में ग्रह दोष हों और कार्यों में परेशानियां आ रही हैं तो महाशिवरात्रि पर महादेव की आराधना करें, उनके पूजन से सभी कष्टों का निदान होगा।

आगरा। शिव सभी की परेशानियां हरते हैं। शिव में सब कुछ समया है। इसीलिए उन्हें देवों के देव महादेव कहा जाता है। इस महाशिवरात्रि के दिन शिव पूजा से सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं। यदि कुंडली में ग्रह दोष हों और कार्यों में परेशानियां आ रही हैं तो महाशिवरात्रि पर महादेव की आराधना करें, उनके पूजन से सभी कष्टों का निदान होगा।

24 को मनेगा पर्व
आस्था, आराधना का महापर्व शिवरात्रि श्रद्धाभाव से 24 फरवरी को ही मनाया जाएगा। इस बार शिव भक्तों के लिए विशेष संयोग बन रहे हैं। महाशिवरात्रि पर प्रदोष, श्रवण नक्षत्र होने से ये महाशिवरात्रि विशेष फलदायी देने वाली होगी।

महाशिव रात्रि पर चार पहर की पूजा का विशेष महत्व होता है। इस बार चारों प्रहर की पूजा का मुहूर्त सुबह शुरू होकर रात सात बजे तक रहेगा।
पहला प्रहर- शाम 6.20 से 9.30 बजे तक
दूसरा प्रहर- रात 9.30 से 12.39 बजे तक
तीसरा प्रहर- रात 12.39 से 3.49 बजे तक
चौथा प्रहर- रात 3.49 से प्रात: 6.58 बजे तक

एक दिन पहले शुरू होगी पूजा
शिवमंदिरों में महाशिवरात्रि के लिए विशेष पूजा अर्चना की जाती हैं। इसका सिलसिला एक दिन पहले से ही शुरू हो जाता है। महाशिवरात्रि के आम लोगों के लिए पूजा 24 फरवरी से होगी। लेकिन महाशिवरात्रि पर विशेष पूजा 23 फरवरी गुरुवार की रात को 4.30 बजे बाद शुरू हो जाएगी। ज्योतिषाचार्य पंडित अरविंद मिश्र का कहना है कि कई सालों बाद ये नक्षत्र देखने को मिला रहा है, जब प्रदेश नक्षत्र का योग शिव भक्तों पर कृपा बरसाएगा। इससे पहले ये योग साल 2006, 2007 और 2009 में मिला था। इसके बाद 2015 में पड़ रहा है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???