Patrika Hindi News

> > > > National Human Rights Commission noticed case of death

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग पहुंचा मौत का मामला

Updated: IST  National Human Right Commission
आगरा पुलिस पर एक बार फिर से बर्बरता के आरोप लगे हैं। एडवोकेट भंवर पाल सिंह जादौन ने एक शिकायत पत्र मानवाधिकार आयोग भेजा है।

आगरा। पुलिस ने थाना शमसाबाद के गांव खेड़ा नबादा में 17 सितम्बर को दबिश डाली थी। इस दबिश के दौरान पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया था। जबकि दूसरे युवक की तालाब में डूबकर मौत हुई थी। पुलिस की इस कार्यप्रणाली की शिकायत राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में की गई है।

पुलिस पर लगे थर्ड डिग्री के आरोप

आगरा पुलिस पर एक बार फिर से बर्बरता के आरोप लगे हैं। एडवोकेट भंवर पाल सिंह जादौन ने एक शिकायत पत्र मानवाधिकार आयोग भेजा है। जिसमें गांव खेड़ा नबादा में पुलिस द्वारा किए गए जघन्य कांड की शिकायत की गई है। आरोप लगाए गए हैं कि भूरी सिंह किसान के घर पुलिस ने दबिश दी। यहां बच्चों, महिलाओं और अन्य युवकों के साथ मारपीट की गई। पुलिस रवि और भूरी सिंह को मारते हुए ले गई। भूरी सिंह को ​थर्ड डिग्री दी गई और रास्ते में पड़े तालाब में उसे फेंक दिया गया। जिससे उसकी मौत हो गई। मांग की गई है कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

Bhanwar Singh Jaduan

पश्चिम बंगाल केस का दिया हवाला

याचिकाकर्ता ने डीके वसु वनाम पश्चिम बंगाल राज्य 1997 पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले का हवाला दिया गया है। जिसमें हिरासत में लिए गए व्यक्ति को यातना देना, उसका उत्पीड़न करना या उसके साथ अमानवीय व्यवहार करना दंडनीय और क्षतिपूर्ण करार दिया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे