Patrika Hindi News

इसलिए खास है रामनाथ कोविंद के लिए आगरा 

Updated: IST Rashtrapati Chunav
पहली बार सभी सांसद और विधायक एक ही पार्टी के

संतोष कुमार पाण्डेय

आगरा। राष्ट्रपति के लिए एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के लिए आगरा इस बार खास है। सोमवार को देश में राष्ट्रपति चुनाव के लिए विधानसभाओं में चुने हुए विधायक और संसद में राज्य सभा और लोक सभा के सदस्य वोट डालेंगे। इन सब के बीच इस बार राष्ट्रपति के चुनाव में आगरा की भूमिका कुछ अलग हो चुकी है। पहली बार देश में राष्ट्रपति के लिए दोनों उम्मीदवार दलित हैं। दरअसल आगरा को दलितों का गढ़ कहा जाता है। इसलिए आगरा के विधायकों और सांसदों के सामने दुविधा खड़ी हो सकती थी लेकिन एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद उत्तर प्रदेश से आते हैं इसलिए उनका पलड़ा भारी है।

इसलिए हुआ खास

पहली बार आगरा में सभी विधायक और सांसद भाजपा के हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि उनके सामने उम्मीदवार भी दलित हैं। इन दोनों कारणों को लेकर राष्ट्रपति चुनाव आगरा के लिए खास हो चुका है। राष्ट्रपति चुनाव में जनसंख्या के हिसाब से उत्तर प्रदेश में एक विधायक का मत वैल्यू 208 है। इस हिसाब से आगरा से भाजपा विधायकों के मत का मूल्य 1872 हुआ। जो एनडीए उम्मीदवार को ही जाएगा। पहली बार ऐसा हो रहा है कि आगरा से किसी भी राष्ट्रपति उम्मीदवार को सभी विधायकों का मत मिल रहा है। वहीं लोक सभा सदस्यों के मत का मूल्य 708 है। ऐसे में आगरा से दो लोकसभा सदस्य हैं। भाजपा के खाते में दोनों हैं। लोक सभा सदस्यों का मत वैल्यू 1416 हो रहा है।

ये हैं विधायक

आगरा कैंट : डॉ गिरराज सिंह , आगरा दक्षिण : योगेन्द्र उपाध्याय , आगरा ग्रामीण : हेमलता दिवाकर , एत्मादपुर : राम प्रताप सिंह, खेरागढ़ : महेश कुमार गोयल , फतेहपुर सिकरी : उदयभान सिंह चौहान , फतेहाबाद : जितेन्द्र वर्मा, बाह : रानी पक्षालिका सिंह,आगरा उत्तर : जगन प्रसाद गर्ग ये सभी भाजपा के विधायक हैं। इसमें योगेन्द्र उपाध्याय, उदयभान सिंह चौहान और जगन प्रसाद गर्ग को छोड़कर सभी छह विधायक पहली बार राष्ट्रपति के चुनाव में वोटिंग करेंगे। सभी नौ विधायकों का मत वैल्यू 1872 है।

ये हैं सांसद

फतेहपुर सिकरी लोकसभा से पहली बार सांसद बने चौधरी बाबूलाल के लिए राष्ट्रपति चुनाव में मतदान करने का पहला अवसर होगा। आगरा में लोकसभा की दो सीटें हैं। दोनों पर भाजपा का कब्जा है। प्रो रामशंकर कठेरिया आगरा और चौधरी बाबूलाल फतेहपुर सिकरी से सांसद हैं। दोनों सांसदों का मत वैल्यू 1416 है।

इस पेन से होगा मतदान

राष्ट्रपति चुनाव में अपना वोट देने आए सांसदों और विधायकों को मतदान केंद्र के भीतर अपना पेन ले जाने से मना कर दिया गया है। सभी सांसद व विधायक विशेष रूप से डिजाइन किये गए पेन (मार्कर) से मतपत्र पर निशान लगाएंगे। राष्ट्रपति चुनाव गोपनीय मतपत्र के जरिये होता है। इसमें पार्टियां अपने सदस्यों को किसी खास उम्मीदवार के पक्ष में वोट डालने के लिये व्हिप जारी नहीं कर सकतीं।

20 को होगी वोटों की गिनती

20 जुलाई को वोटों की गिनती होनी है। 25 जुलाई को शपथ ग्रहण समारोह होगा। देश के चीफ जस्टिस नए राष्ट्रपति को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???