Patrika Hindi News

तो क्या ओवैसी ​के जिलाध्यक्ष से डरा हुआ है सत्ताधारी दल

Updated: IST AIMiM
एआईएमएआई के जिलाध्यक्ष अल्हाज मुहम्म्द इदरीस द्वारा शहर भर में पांच बड़े होर्डिंग्स और 10 हजार पोस्टर चस्पा किए गए हैं।

आगरा। यूपी चुनाव 2017 के लिए इस बार यूपी में मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) भी अपने दावेदार उतार रही है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इसकी घोषणा भी कर दी। यूपी चुनाव को लेकर पार्टी द्वारा जनसभाएं और प्रचार प्रसार शुरू किया जाना है, लेकिन आगरा में एआईएमएआई को न तो जनसभा की अनुमति मिली और ना ही नुक्कड़ सभा करने की। इससे खफा पार्टी के जिलाध्यक्ष ने होर्डिंग्स और पोस्टर के माध्यम से सीएम अखिलेश यादव को ललकारा है। पोस्टरों पर साफ किया गया है कि पार्टी के यूपी में आने से सत्ताधारी दल डरा हुआ है।

शहर में लगाए गए होर्डिंग्स
एआईएमएआई के जिलाध्यक्ष अल्हाज मुहम्म्द इदरीस द्वारा शहर भर में पांच बड़े होर्डिंग्स और 10 हजार पोस्टर चस्पा किए गए हैं। इन पोस्टर पर साफ लिखा गया है कि सत्ताधारी दल को आगरा जिलाध्यक्ष का खौफ। अपने ही शहर में जिलाध्यक्ष को जनसभा करने की इजाजत नहीं। मुहम्मद इदरीस ने कहा कि यदि इसके बाद भी सत्ताधारी दल द्वारा कोई सकारात्मक रुख नहीं अपनाया जाता है, तो हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा।

इसलिए डरा सत्ताधारी दल
ऑल इण्डिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के जिला अध्यक्ष अल्हाज मुहम्म्द इदरीस अली ने बताया कि अब तक अपनी 15 बार परमिशन के लिए आवेदन कर चुका हूँ कि पार्टी के प्रचार प्रसार की इजाज़त दी जाए, लेकिन किसी भी प्रार्थना पत्र पर अपने ही शहर आगरा के अंदर जन सभा व नुकड़ सभा की इज़ाज़त नहीं दी गई और न ही प्रार्थनापत्र के निरस्त की कोई लिखित में सूचना दी गई। जन सूचना अधिनियम के तहत 26जुलाई, /2016 को जबाब मांगा गया, जबाव आया कि प्रदेश की वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य को देखते हुए अनुमति दिया जाना समाचीन प्रतीत नहीं होता। इससे ये साबित होता है कि मौजूदा सरकार को आगरा के जिला अध्यक्ष का इतना डर है कि अपने शहर और अपने ही घर में जनसभा के रोका जा रहा है

अनुमति नहीं मिली, तो भी नवम्बर में होगी रैली
मोहम्मद इदरीस अली ने कहा पार्टी हाईकमान द्वारा निर्देश मिल चुके हैं। अब प्रशासन अनुमति ये या नहीं दे, लेकिन नवम्बर में आगरा में बड़ी रैली होगी। इसके लिए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भी हरी झंडी दे दी है। इससे पूर्व पार्टी द्वारा पोस्टर और बैनर के माध्यम से जनता के बीच यह बात रखी जाएगी, कि प्रशासन द्वारा उन्हें रैली के लिए अनुमति नहीं दी जा रही है। इसके लिए शहर में पांच जगह बड़े होर्डिंग्स और 10 हजार पोस्टर लगाए गए हैं।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???