Patrika Hindi News

जिला पंचायत अध्य़क्ष पद पर बसपा का पेंच

Updated: IST Kushal Yadav
जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर सपा की कुशल यादव हैं। इस पद के लिए भाजपाई लगातार जोड़ तोड़ की रा​जनीति कर रहे हैं।

आगरा। सत्ता से दूर रहकर भी बसपा अपना असर दिखा रही है। जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर सपा का कब्जा है। इस पद के लिए भाजपा में घमासान मचा हुआ है। जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर कब्जा करने के लिए बसपा हालांकि दूर दूर तक नहीं हैं, लेकिन बसपाई इस पद के लिए सभी का खेल बिगाड़ रहे हैं।

सदस्यों को नहीं तोड़ पा रहे
जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर सपा की कुशल यादव हैं। इस पद के लिए भाजपाई लगातार जोड़ तोड़ की रा​जनीति कर रहे हैं। तो सपाई भी इस पद को बचाने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं। कभी पार्टी द्वारा सदस्यों को ​पांच सितारा होटलों में पार्टियां दी जाती हैं, तो कभी उन्हें महंगे तोहफे दिए जाते हैं। सूत्रों के मुताबिक बड़ी रकम भी इस काम के लिए खर्च की गई। लेकिन भाजपा अब तक अविश्वास प्रस्ताव नहीं ला सकी। अध्यक्ष पद के लिए विरोधियों के ​पास जादुई आंकड़ा न होने से भाजपाई तिलमिला रहे हैं। वहीं बसपा दूर बैठकर तमाशा देख रही है।

बसपा के सदस्यों पर नजर
जिला पंचायत अध्यक्ष के पद के लिए भाजपा के पास पहले से ही बहुमत नहीं है। जब चुनाव हुए थे, उस दौरान भाजपा के महज सात सदस्य थे। इसके बाद जोड़तोड़ की राज​नीति कर इस आंकड़े को 17 तक पहुंचाया गया। लेकिन भाजपा को कामयाबी नहीं मिल सकी। इन सबके बाद अब भाजपा की नजर अविश्चास प्रस्ताव पर है। भाजपा को 26 जिला पंचायत सदस्यों का जादुई आंकड़ा जिलाधिकारी के सामने पेश करना होगा। लेकिन, सदस्यों की संख्या न होने के चलते अभी तक अविश्वास प्रस्ताव भाजपाईयों के लिए दूर की कौड़ी बनता नजर आ रहा है। अब भाजपा की नजर बसपा के सदस्यों पर टिकी है।

कम ही सही लेकिन एकजुट
इस पूरी रार में जहां सपा अभी तक अपने सदस्यों को एकजुट करने में कामयाब दिख रही है। तो बसपा भी पीछे नहीं है। सूत्रों के मुताबिक जो भी जिला पंचायत सदस्य अभी है, बसपा उन्हें एकजुट करने में कामयाब होती दिख रही है। माना जा रहा है कि बसपा के सदस्यों का टूट न पाने के चलते भाजपा अपनी मंशा में कामयाब नहीं हो पा रही है। बसपाई अभी इस मामले पर कुछ भी बोलने से बचते दिख रहे हैं।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???