Patrika Hindi News

चार वर्ष पूर्व बिछुड़ी बालिका को मिलाया

Updated: IST ahmedabad
सूरत की कीम चौकड़ी के निकट बाबागोर की दरगाह में उर्स के मेले में चार वर्ष पूर्व बिछुड़ी बालिका का राजकोट

राजकोट।सूरत की कीम चौकड़ी के निकट बाबागोर की दरगाह में उर्स के मेले में चार वर्ष पूर्व बिछुड़ी बालिका का राजकोट चाइल्ड वेल्फेयर कमेटी ने शुक्रवार को परिवार से मिलन कराया है।जानकारी के अनुसार मूल रूप से दिल्ली निवासी एवं गुजरात के अलग-अलग गांवों में रहने वाले जाकिरहुसैन फकीर पत्नी मनोरमा एवं नौ वर्षीय पुत्री जहाआरा के साथ चार वर्ष पूर्व सूरत में उर्स का मेला देखने के लिए गए थे।

मेले के दौरान जहाआरा ने राइड में बैठने की जिद की तो माता ने उसे डांट दिया, जिससे क्षुब्ध होकर बालिका छिप गई और ट्रेन में बैठकर अहमदाबाद पहुंच गई। दूसरी ओर, माता-पिता ने बालिका की तलाश की, लेकिन कोई पता नहीं चला।

इस बीच, अहमदाबाद पहुंची जहाआरा को पुलिस ने चाइल्ड होम फॉर गल्र्स आश्रम में पहुंचा दिया। पूछताछ में जहाआरा की बहन धोराजी में रहने की जानकारी मिली, जिससे उसे राजकोट चिल्ड्रन वेल्फेयर कमेटी में भेज दिया। कमेटी के अध्यक्ष डॉ. दीपक पीपळिया ने जहाआरा की पूछताछ की और धोराजी निवासी उसकी बहन फतीमा व फतिमा के पति सलीम को खोज निकाला। बाद में जहाआरा के माता-पिता का सम्पर्क किया और राजकोट बुलाकर शुक्रवार को बालिका को सौंप दिया। चार वर्ष पूर्व बिछुड़ी बालिका को पाकर माता-पिता की आंखों से खुशी के आंसू झलक पड़े।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???