Patrika Hindi News

भारतीय संस्कृति एवं विरासत से रूबरू कराती पेंटिंग्स

Updated: IST ahmedabad
युवा चित्रकार मृणाल दत्त की पेंटिंग प्रदर्शनी 'स्पलेंडेंट-2Ó का शुक्रवार को पेटल फाउंडेशन की खुशबू बग्गा ने

अहमदाबाद। युवा चित्रकार मृणाल दत्त की पेंटिंग प्रदर्शनी 'स्पलेंडेंट-2Ó का शुक्रवार को पेटल फाउंडेशन की खुशबू बग्गा ने उद्घाटन किया। कर्णावती क्लब में मैनेजर मृणाल ने बीटेक की डिग्री ली है, लेकिन बचपन से ही पेंटिंग का शौक उन्हें चित्रकारी करने से नहीं रोक पाया। देर से ही सही लेकिन काफी मशक्कत के बाद उन्होने अपनी कला व हुनर के दम पर अपने माता पिता को भी राजी कर लिया है।

अभी भी नौकरी करने साथ-साथ वह फुरसत के समय में अपनी चित्रकारी के शौक को पूरा करने में जुट जाते हैं। स्वयं ही निरंतर प्रयास से अपनी कला को निखारने वाले मृणाल का कहना है कि कला उनका जीवन है और वे अपनी कला से ही पुरी दुनिया में मशहूर होना चाहते हैं। उनकी पेटिंग्स में समकालीन, मधुबनी और आधुनिक कला का मिश्रण देखने को मिलता हैं। भगवान गणेश, शिव, राधा-कृष्ण और नारायण के दशावतार पर को उन्होंने अपनी कला के जरिए प्रदर्शित करने की कोशिश की है।

कुछ चित्रों में उन्होंने बंजारा संस्कृति और महिलाओं के रूपों को भी दर्शाया है। कोलकाता की व्यस्त सड़कों के बीच ट्रैम और हाथगाड़ी को दर्शाने वाला दिलचस्प चित्र है। केवल 25 वर्ष के मृणाल को देश के साथ-साथ विदेशों में भी आज अपनी इसी कला की बदौलत पहचान मिली है। उनके जीवन की कहानी का कवरेज अमेरिका के स्टोरी मिरर आर्ट ग्रुप ने वर्ष 2015 और 2016 में किया था। उनके चित्रों की साडिय़ां भी बाजार में बिक रही हैं। हैदराबाद की एक कंपनी ने इसे अपनी साडिय़ों पर प्रिंट किया है। मृणाल पैरिस ग्रुप शो, इंडिया आर्ट दिल्ली और बर्लिन आर्ट एक्सपो में भी अपनी पेंटिंग्स को प्रदर्शित कर चुके हैं।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???