Patrika Hindi News

एक किमी इलाका प्रभावित घोषित

Updated: IST ahmedabad
शहर के मेमनगर इलाके में सर्व धर्म रक्षक सेवा ट्रस्ट रेस्क्यू सेंटर के बतक, चाइनीज मुर्गी (गीनिया फाउल

अहमदाबाद।शहर के मेमनगर इलाके में सर्व धर्म रक्षक सेवा ट्रस्ट रेस्क्यू सेंटर के बतक, चाइनीज मुर्गी (गीनिया फाउल ट्रेकिअल), फीकल व क्लोकल स्वेब में बर्ड फ्लू (एच5एन1) एवियन एन्फ्लूएंजा वायरस पॉजिटिव पाए जाने के चलते मेमनगर के आसपास के एक किलोमीटर के इलाके को पुलिस आयुक्त ए.के.सिंह ने बर्ड फ्लू से प्रभावित घोषित किया है। दस किलोमीटर के इलाके को अलर्ट जोन घोषित करते हुए अंडा, मुर्गी व अन्य पक्षियों की बिक्री व उसके उपयोग पर रोक लगा दी है। प्रभावित क्षेत्रों में आवागमन पर भी रोक लगा दी गई है साथ ही यहां से किसी भी वस्तु और वाहन को ले जाने पर रोक लगाई गई है। शुक्रवार सुबह जारी की गई अधिसूचना में कहा गया है कि पक्षियों में बर्ड फ्लू की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के चलते और ये वायरस हवा के जरिए तेजी से फैलने की संभावना को मद्देनजर रखते हुए ये प्रतिबंध लगाया गया है।

फार्म में प्रवेश पर रोक

बर्ड फ्लू पॉजिटिव पक्षियों के संपर्क में रहने वाले व्यक्तियों में भी इसके फैलने की आशंका को मद्देनजर रखते हुए पुलिस आयुक्त ने सेवा धर्म ट्रस्ट फार्म के प्रभावित इलाके में किसी भी बाहरी वाहन व व्यक्ति के जाने पर रोक लगाई है। इतना ही नहीं इस फार्म के व्यक्तियों व स्वयंसेवकों को भी बिना जरूरी कारणों के बाहर जाने पर रोक लगाई है। इन्हें किसी अन्य प्राणी संग्रहालय व पॉल्टी फॉर्म में न जाने के लिए कहा है। इन्हें पर्याप्त सावधानी मास्क, मोजा, गम, जूता, डिस्पोजल ग्लव्स पहनने को कहा है। पक्षियों की छेर को भी छूने में सावधानी बरतने को कहा है।

पॉल्ट्री फार्म वालें रखें ध्यान, बिक्री ना करें

इस इलाके में पॉल्ट्री फॉर्म चलाने वालों को भी हाल फिलहाल अपने फॉर्म की मुर्गियों का ध्यान रखने। उन्हें बाहर ना निकालने और ना बेचने को कहा है। ना ही बाहर से किसी पक्षी को फार्म में लाएं।

क्षेत्र भर में होगा सर्वे

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शुक्रवार सुबह से ही क्षेत्र में सर्वे का कार्य शुरू कर दिया गया है। जिसमें 25 से अधिक टीम उतारी गईं हैं।

चाइनीज मुर्गियां मामले में पुलिस ने लिया संज्ञान

अहमदाबाद. शहर से सटे हाथीजण के वस्त्राल तालाब से बर्ड फ्लू से प्रभावित चाइनीज मुर्गियों के मिलने के मामले में रामोल पुलिस ने संज्ञान लेते हुए सूचनार्थ (जाणवा जोग) दर्ज की है। रामोल पुलिस थाने के पुलिस निरीक्षक परेश सोलंकी की ओर से मुर्गियों को लाने वाले इलाहाबाद के व्यापारी बनारसीलाल व उसके पुत्र से की गई पूछताछ में सामने आए तथ्यों को देखते हुए पुलिस आयुक्त ए.के.सिंह ने इसकी जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी है।

क्राइम ब्रांच भी इन मुर्गियों को लाने वाले व्यापारी बनारसी लाल व उसके पुत्र से पूछताछ करने में जुटी है।पुलिस निरीक्षक परेश सोलंकी ने बताया कि उत्तरप्रदेश के इलाहाबाद जिले के रहने वाले व्यापारी बनारसीलाल ने बताया कि वो इन मुर्गियों का पालन अपने घर के बाहर ही इलाहाबाद में करता है। इनके छह से सात महीने के होने के बाद इन्हें ट्रक में लेकर बेचने के लिए निकलता है। वो इन मुर्गियों को दाना पानी कराने के लिए हाथीजण के पास वस्त्राल तालाब किनारे रुका और इन्हें उतारा था। इस बीच वहां आशा फाउंडेशन के लोगों की टीम आई और कहा कि इन मुर्गियों में फ्लू है या नहीं इनकी जांच करनी होगी।

जबकि बनारसीलाल का दावा था कि उसके पास इलाहाबाद के पशु चिकित्सक का इन मुर्गियों को फ्लू न होने व इनके स्वस्थ्य होने की रिपोर्ट थी। इसके बावजूद आरोप है कि आशा फाउंडेशन के स्वयंसेवी व पदाधिकारियों ने तीन लाख रुपए की 1435 चाइनीज मुर्गियां अपने कब्जे में ले लीं। 1235 के करीब वाहन के जरिए अपने साथ हाथीजण ले गए और वाहन में अन्य मुर्गियां नहीं आने पर करीब दो सौ मुर्गियां सर्वधर्म ट्रस्ट को सौंपते हुए मेमनगर में भेज दिया गया। बनारसीलाल का दावा है कि वो आशा फाउंडेशन के कार्यालय भी गया, लेकिन उसे भगा दिया। पुलिस के पास भी गया तो भी कोई मदद नहीं मिली। इसे देखते हुए आशा फाउंडेशन के निदेशक हर्मेश भट्ट पर लगाए आरोप की जांच की जा रही है।

सोलंकी ने बताया कि इस बात की जांच की जा रही है कि इन मुर्गियों को पहले से बर्ड फ्लू था या नहीं था। यदि था तो ये इन्हें क्यों लेकर आया। नहीं था तो भी आशा फाउंडेशन वालों ने मुर्गियां क्यों लीं। यदि इन्हें बर्ड फ्लू था तो कब से था।

राजकोट, सूरत और मुंबई जाने वाला था!

बनारसीलाल ने रामोल पुलिस के सामने कबूला कि वो इन मुर्गियों का पालन व व्यवसाय करता है। वो इन्हें बेचने के लिए राजकोट जाने वाला था। वहां से सूरत और नहीं बिकने पर मुंबई भी जाने वाला था।

ट्रस्टी सहित चार से पूछताछ

मेमनगर सर्वधर्म रक्षक सेवा ट्रस्ट में हाथीजण के घटनाक्रम के बाद से ही ये मुर्गियां थीं। सूत्रों की मानें तो इसमें से कुछ मुर्गियों के गायब होने की भी खबर है। इसे देखते हुए जीयू पुलिस थाने के पीआई जी.एस.बारिया की ओर से सर्वधर्म रक्षक सेवा ट्रस्ट के ट्रस्टी जस्मिन शाह सहित चार से पूछताछ की गई।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???