Patrika Hindi News

अमरीका में अपने ही देश के पूर्व पुलिस अफसर को मुस्लिम होने की वजह से रोका गया

Updated: IST Hasan aaden
अमरीका के एक पूर्व पुलिस अधिकारी ने कहा है कि इस महीने की शुरुआत में न्यूयॉर्क के जॉन एफ. केनेडी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उसे उसके 'नाम' की वजह से 90 मिनट तक के लिए रोके रखा गया। मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है।

वॉशिंगटन. अमरीका के एक पूर्व पुलिस अधिकारी ने कहा है कि इस महीने की शुरुआत में न्यूयॉर्क के जॉन एफ. केनेडी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उसे उसके 'नाम' की वजह से 90 मिनट तक के लिए रोके रखा गया। मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। वर्जिनिया के अलेक्जेंड्रिया में रहने वाले हसन अदेन (52) ने शहर के पुलिस विभाग में 26 साल काम किया था। वहां उन्होंने बतौर पुलिस उप प्रमुख के रूप में भी काम किया था। साल 2015 में वह सेवानिवृत्त हुए। अदेन ने स्थानीय मीडिया को बताया कि 13 मार्च को वह पेरिस से अपनी मां का 80वां जन्मदिन मनाकर लौट रहे थे। जैसे ही वह कस्टम में पहुंचे उन्होंने अपना पासपोर्ट लौटाए जाने की उम्मीद की, लेकिन अमरीकी कस्टम एवं सीमा सुरक्षा (सीबीपी) अधिकारी ने उनसे पूछा कि क्या आप अकेले यात्रा कर रहे हैं? अदेन ने जवाब दिया 'हां' तो उसने उन्हें अपने साथ चलने के लिए कहा।

42 सालों से अमरीका में रह रहे हैं हसन
अदेन इटली में जन्मे अमरीकी नागरिक हैं, वह पिछले 42 सालों से अमरीका में रह रहे हैं। अदेन ने कहा कि उन्हें एक अस्थायी कार्यालय ले जाया गया और सेलफोन इस्तेमाल करने से भी मना कर दिया गया। उन्होंने अधिकारी को बताया कि वह सेवानिवृत्त पुलिस प्रमुख हैं, लेकिन उसने कहा कि वह कुछ नहीं कर सकता और परिस्थितिवश मजबूर है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि 'निगरानी सूची' के अंतर्गत आने वाले किसी शख्स ने अदेन के नाम का इस्तेमाल किया था और उन्हें वहीं शख्स समझ लिया गया।

कस्टम व सीमा सुरक्षा का टिप्पणी से इनकार
अमरीकी कस्टम एवं सीमा सुरक्षा के प्रवक्ता ने रविवार को कहा कि संघीय गोपनीयता अधिनियम के कारण वह अदेन के मामले में कोई टिप्पणी नहीं करेंगे, लेकिन अमरीका पहुंचने वाले सभी यात्रियों को सीबीपी के निरीक्षण से गुजरना होता है।
अदेन की मां इतालवी मूल की और पिता सोमालियाई हैं।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???