Patrika Hindi News

ट्रंप 'ट्रैवल बैन' के नियमों में करेंगे बदलाव, नहीं चाहते मुकदमेबाजी

Updated: IST travel ban trump
ट्रंप सरकार ने कहा, लंबी मुकदमेबाजी नहीं चाहिए। स्थायी समाधान चाहिए इसलिए नियमों में करेंगे बदलाव।

न्यूयार्क. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सात मुस्लिम देशों पर लगाए गए 'ट्रैवल बैन'के नियमों में जल्द ही बड़े बदलाव करेंगे। अमरीकी सरकार ने कोर्ट को दिए दस्तावेज में इस बाबत जानकारी दी है। सरकार ने कहा कि वह लंबी मुकदमेबाजी की जगह इसमें बदलाव करेगी। प्रशासन की तरफ से कहा गया है, 'मुकदमेबाजी में ज्यादा समय गंवाने के बजाए देश की सुरक्षा को देखते हुए राष्ट्रपति जल्द कोई रास्ता निकालेंगे।'

क्या था ट्रंप का अादेश

ट्रंप ने 27 जनवरी को ईरान, इराक, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया था। ट्रंप सरकार ने तर्क दिया था कि सुरक्षा संबंधी फैसलों पर निर्णय लेने का अधिकार कोर्ट के पास नहीं है। इसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था। इस फैसले का दुनियाभर में विरोध हो रहा है।

कोर्ट ने लगाई थी रोक

एक फेडरल कोर्ट के जज ने ट्रंप के 'मुस्लिम बैन' के खिलाफ आदेश दिया था। इसके बाद इसे लागू करने की प्रक्रिया फिलहाल रोक दी गई है। कोर्ट ने शरणार्थियों और सात मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों पर प्रतिबंध वाले ट्रंप के फैसले पर से रोक हटाने से इनकार कर दिया था।

ट्रंप ने जजों पर साधा था निशाना

गुरुवार को ट्रंप प्रशासन ने इस फैसले के विरोध में कहा कि तीनों जज इस निर्णय को गलत समझ रहे हैं, जबकि ऐसा नहीं है। कोर्ट ऑफ अपील्स ने अपने फैसले में कहा था कि सरकार ने यह साबित नहीं किया कि इसकी अपील में दम है और न ही यह साबित किया है कि रोक नहीं हटाने से बड़ा नुकसान होगा।

अमरीका में बंटे लोग

अमेरिका के कई शहरों और हवाईअड्डों पर लोग ट्रंप के इस निर्णय के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। शुक्रवार को सिऐटल के एक फेडरल जज जेम्स रोबाट ने इस बैन पर प्रतिबंध लगा दिया था। जज ने कहा था कि इस फैसले की विस्तृत कानूनी समीक्षा की जाएगी। शनिवार को ट्रंप ने इस जज पर बिफरते हुए उनके खिलाफ कई ट्वीट किए थे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???