Patrika Hindi News

ट्रंप के चुनाव में रूसी दखल की स्वतंत्र जांच होनी चाहिए: रिपोर्ट

Updated: IST trump
एक सर्वे के मुताबिक 78 फीसदी अमरीकियों का मानना है कि 2016 के राष्ट्रपति चुनावों में रूस के दखल की जांच एक स्वतंत्र आयोग या विशेष अभियोजक से कराई जानी चाहिए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक सर्वेक्षण में लोगों से पूंछा गया था कि क्या वे इस मामले की एक स्वतंत्र जांच देखना चाहते हैं ।

वाशिंगटन: एक नए मत सर्वेक्षण के मुताबिक 78 फीसदी अमरीकियों का मानना है कि 2016 के राष्ट्रपति चुनावों में रूस के दखल की जांच एक स्वतंत्र आयोग या विशेष अभियोजक से कराई जानी चाहिए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एनबीसी न्यूज/वाल स्ट्रीट जर्नल ने सर्वेक्षण में लोगों से पूछा था कि क्या वे इस मामले की एक स्वतंत्र जांच देखना चाहते हैं या चाहते हैं कि कांग्रेस इसकी जांच संभाले। सर्वे के नतीजे रविवार को जारी किए गए।

सर्वे में 78% ने स्वतंत्र आयोग से जांच का किया समर्थन
इस सर्वेक्षण में सिर्फ 15 फीसदी ने कांग्रेस से जांच कराने के विकल्प को चुना, जबकि 78 फीसदी ने स्वतंत्र आयोग या विशेष अभियोजक से जांच का समर्थन किया। यह परिणाम इस मामले की जांच से जुड़े उथल-पुथल भरे बीते सप्ताह के बाद आए हैं।

एफबीआई के निदेशक जेम्स कोमे को ट्रंंप कर चुके हैं बर्खास्त
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 9 मई को फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) के निदेशक जेम्स कोमे को बर्खास्त कर दिया जो इस जांच का नेतृत्व कर रहे थे। इसके बाद से ट्रंप और उनके प्रशासन के कई अन्य सदस्यों ने जांच को जारी रखने के लिए स्वतंत्र आयोग की जरूरत को पीछे धकेल दिया है।

जांच सदन, सीनेट के नेतृत्व में आगे बढ़ना चाहिए: ट्रंप
एफबीआई चुनाव में रूसी दखल की जांच कर रहा है और साथ ही इसकी भी जांच कर रहा है कि क्या ट्रंप के राष्ट्रपति अभियान के सदस्यों ने रूस के साथ मिलकर काम किया था। एक समाचार पत्रिका की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप ने शनिवार को कहा कि उनका मानना है कि जांच को सदन, सीनेट, एफबीआई के नेतृत्व में आगे बढ़ना चाहिए। लेकिन, कोमे की बर्खास्तगी को लेकर राय दलगत आधार पर बंटी नजर आई। 58 फीसदी रिपब्लिकन ने इस पर अपनी सहमति जताई जबकि 66 फीसदी डेमोक्रेट ने असहमति जताई।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???