Patrika Hindi News
UP Election 2017

अब यू टर्न ले रहा है 11 लोगों की मौत का मामला 

Updated: IST sucide case
आत्महत्या से पहले परिवार के मुखिया द्वारा लिखा गया नोट अब कहानी हत्या की तरफ जा रही है। नोट को मिलने के बाद मृतक के भाई ने शनिवार को एसपी को ज्ञापन दिया।

अमेठी. जनपद में कुछ दिन पूर्व हुई 11 लोगों के आत्महत्या का मामला अब यू टर्न ले रहा है। इस मामले में आत्महत्या से पहले परिवार के मुखिया द्वारा लिखा गया नोट अब कहानी हत्या की तरफ जा रही है। इस लिखे नोट के मिलने के बाद मृतक के भाई ने शनिवार को एसपी को ज्ञापन दिया।

बता दें आपको की अमेठी के शुकुल बाजार थाना क्षेत्र के महोना में कुछ दिन पूर्व एक ही परिवार के 11लोगों की परिवार के मुखिया द्वारा हत्या का मामला सामने आया था। इस मामले में परिवार के मुखिया जमालुदीन द्वारा आत्महत्या से पहले लिखे 11 पेज का सुसाइड नोट ये साबित करता है कि गाँव के ही चाँद बाबू, अली हसन, अनीश, कुल्लू, मोटू, नौशाद, सूमो आदि लोगों से जमीनी विवाद चल रहा था, जिसके कारण पूरे परिवार की हत्या कर दी गई है। जब नोट में ये भी दर्शया गया है कि मेरा किसी के पास कोई कर्ज भी नहीं है जो भी है वो बैंक में सिर्फ 16 हजार है, जो की बिजली का बिल और बिजनस परिपद से लिया गया है। जब की उनके पास उससे ज्यादा लगभग 2 लाख का चेक भी बरामद हुआ है।

इस मामले को लेकर मृतक जमालुदीन के भाई की माने तो उनका कहना था कि हमारे भाई जो की अपने स्थनीय निवास से हट कर रह रहे थे। उन्होंने हमको एक जमीन की हमारे लिये खरीददारी महोना में की थी। यही जमीन उनकी जान की दुश्मन बन गई। आये दिन उनको धमकी भी मिलती थी, जिसका जिक्र नोट में किया गया है, उसमें ये भी लिखा है कि उनको मारने के लिये मिलाना पड़ेगा। तभी काम बनेगा। इन सब बातों को लेकर मृतक जमालुदीन के भाई अनीस अहमद ने अमेठी पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र दिया और न्याय की मांग की। पुलिस जाँच हटा कर क्राइम ब्रंच से जांच करने की मांग की।

इस मामले में उनके द्वारा लिखे नोट मिलने के बाद जब पुलिस अधीक्षक सन्तोष सिंह से बात करने की कोशिश की गई तो वे कैमरे के सामने बोलने से इंकार कर दिये। जहाँ एक ही परिवार के 11लोगों की मुखिया द्वारा हत्या का आरोप लगने के बाद अब सुसाइड नोट मिलना बड़ा सवाल खड़ा कर रहा है। अब देखना दिलचस्प होगा की क्या परिवार के मुखिया पर लगे दाग मिट पाएगा।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???