Patrika Hindi News

> > > > Mental Challenged woman jumped in front of goods train for suicide on Amethi Railway Station

झाड़ फूंक के बहाने करता था महिला की पिटाई 

Updated: IST AUNTY
आज सुबह एक मानसिक रूप से पीड़ित महिला, जिसको परिवार वालों ने झाड़ फूक के लिये तांत्रिक के हवाले कर दिया था, उसने ट्रेन के नीचे कट कर आत्म हत्या करने का प्रयास किया।

अमेठी।आज सुबह एक मानसिक रूप से पीड़ित महिला, जिसको परिवार वालों ने झाड़ फूक के लिये तांत्रिक के हवाले कर दिया था, उसने ट्रेन के नीचे कट कर आत्म हत्या करने का प्रयास किया। घटना सुबह के 7 बजे कि अमेठी रेलवे स्टेशन की है, जब एक मानसिक रूप से विछिप्त महिला मुन्नी पत्नी फारुख ने मालगाड़ी के नीचे कटकर जान देने का प्रयास किया। तभी वहां आनन फानन में लोगों की सूचना पर आये जीआरपीएफ के जवानों ने फुर्ती दिखाई और रेलवे ट्रैक पर महिला की जान बचाकर आरपीएफ चौकी ले गए।

शुरआत में महिला बोलने में असमर्थ थी लेकिन जब वह कुछ होश में आयी तो उसने जो बयान दिया वह रौंगटे खड़े करने वाला था। दरअसल मुन्नी नाम की यह महिला प्रतापगढ़ जिले के कटरा की रहने वाली है। यह महिला शारीरिक रूप से अस्वस्थ थी। तभी महिला के पति ने ऊपरी साया व भूत प्रेत की बात कहकर अमेठी के लूनियापुर स्थित एक अंसार बाबा के यहां झाड़ फूंक कराकर भूत प्रेत उतरवाने ले आया था। पिछले तीन दिनों से महिला को वहां रखकर झाड़ फूंक द्वारा उसका इलाज किया जा रहा था और बाबा द्वारा झाड़ फंक के नाम पर महिला की पिटाई भी की जा रही थी। जिसके बाद महिला मौका पाकर वहां से भाग निकली और अमेठी रेलवे स्टेशन पर मालगाड़ी के नीचे कटकर अपनी जान देने वाली थी। समय रहते आरपीएफ के जवानों ने पहुंचकर महिला की जान बचाई।

इस घटना के बारे में जब बृजराज यादव एसआई आरपीएफ अमेठी से बात की तो उन्होंने बताया कि महिला का पति काफी गरीब है और पैसों के अभाव में उसका इलाज न करवा पाने के एवज में अंसार बाबा के यहां अपनी पत्नी का इलाज कराने लाया था। दो दिनों तक सब ठीक था, लेकिन शाम को वह अपने घर वापस चला गया था, आज सुबह उसे जानकारी मिली की उसकी पत्नी वहां से भाग गई है। सुचना पाकर वह यहां पहुंचा है।

घटना के बारे में चौंकाने वाले तथ्य यह है कि बाबा के चेले भी महिला के भागने की सुचना पाकर अमेठी रेलवे स्टेशन पहुंच गये और महिला को वापस ले जाने की कोशिश करने लगे लेकिन महिला ने उनके साथ जाने से इंकार कर दिया। हालांकि अंसार द्वारा मार पीट की की खबर से उनके चेले साफ तौर पर पल्ला झाड़ रहे हैं। वहीं आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर ने महिला को अमेठी पुलिस सुपुर्द कर दिया है और उनके द्वारा ही पूरे मामले की जांच पड़ताल की बात कही जा रही है।

गौरतलब हो कि इतना निःशुल्क शिक्षा व स्वास्थ्य का प्रचार प्रसार व कार्यक्रम सरकार द्वारा चलाने के बावजूद लोग अंध विश्वास का सहारा ले रहे हैं। सरकार द्वारा निःशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं चलाना जमीनी हकीकत से परे है। सरकारी अस्पतालों के बद से बदतर हालात व असुविधा के कारण इसका लाभ आम जन तक नहीं पहुंचता और लोग अपना इलाज कराने के लिये अंध विश्वास का सहारा ले रहे हैं। पुलिस को भी ऐसे बाबाओं पर नकेल कसने की जरूरत है जो झाड़ फूंक के नाम पर लोगों को ठगते हैं। सीधे साधे लोगों को बेवकूफ बनाकर उनकी जान जोखिम में डालते हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे