Patrika Hindi News

लूटपाट के बाद दहशत में हैं रहवासी

Updated: IST masked robbers looting

अनूपपुर. बिजुरी थानातंर्गत माइनस कॉलोनी सहित सिगड़ी गांव व आसपास के क्षेत्रों में 14-15 फरवरी की दरमियानी रात दर्जन से अधिक नकाबपोश हथियारबंद डाकूओं द्वारा 4 घरों में लूटपाट करने की घटना से अब भी ग्रामीणों में दशहत का माहौल बना हुआ है। थाना से मात्र 3 किलोमीटर की दूरी में स्थित कॉलरी की माईनस कॉलोनी में पूर्व भी अनेक चोरी की घटनाएं सामने आई थी, लेकिन इस लूट के बाद लोगों ने खुद को असुरक्षित महसूस किया है। वहीं घटना में घायल हुए सिगुड़ी गांव निवासी पटेल कोल का कहना था एक समय तो यह महसूस हो रहा था कि उनकी जान खत्म हो जाएगी। फरसा के बल पर नकाबपोश डाकू काट देने की बार बार धमकी दे रहे थे। वहीं फुलकी चाट बेचने वाला ठेला संचालक दुखित साव का कहना है कि जिस समय डाकूओं ने उनकी कनपटी पर फरसा रखकर पैसा दिखाने की मांग की, तो मानो लग रहा था कि अब डाकू उन्हें और उनके बच्चों को यहीं मार डालेंगे। बेहराबांध कॉलरी ठेकेदार महेन्द्र चौधरी को लगता है कि उनकी वजह से डाकूओं को डाका में बड़ा हाथ नहीं लगा और ग्रामीणों से उनका आमना सामना हो गया। यह सोचकर उनकी सांसे तेज हो जाती है कि कहीं बाद में दुबारा इस प्रकार की कोई अप्रिय घटना ने सामने आए जाए। विदित हो कि बिजुरी में पुलिस गश्त को धता बताकर दर्जनों हथियारबंद नकाबपोश डाकूओं ने एक ही रात 4 घरों में डाका डालने का प्रयास किया था। जिसमें 50 हजार रूपए से अधिक के जेवरात व नगदी सहित अन्य समान उठा ले गए। इस घटना में परिजनों के साथ डाकूओं के साथ हाथपाई भी हुई। जिसमें तीन लोग आंशिक रूप से चोटिल हुए। पीडि़तों ने घटना की शिकायत बिजुरी थाने में दर्ज कराई। लेकिन इस प्रकार की घटना ने पुलिस पर सवालिया निशान लगा दिए है कि आखिर पुलिस अधीक्षक के निर्देशों के बाद पुलिस पिकेट तक थानेदार सहित अन्य अमले की पहुंच नहीं बन रही है। कॉलोनीवासियों का कहना है कि अगर पुलिस गश्त होती रहती तो बिजुरी में डकैती के इस प्रकरण के साथ अन्य बड़ी चोरियां भी सामने नहीं आती।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???