Patrika Hindi News

चलित तारा मंडल से समझाई ग्रहों की चाल

Updated: IST mobile science exhibition, mobile planetarium,
अशोकनगर. चलित विज्ञान प्रदर्शनी बस के माध्यम से बच्चों को विज्ञान प्रदर्शनी का अवलोकन कराया गया। साथ ही चलित तारा मंडल से ग्रहों व तारों की चाल भी समझाई।

अशोकनगर. चलित विज्ञान प्रदर्शनी बस के माध्यम से बच्चों को विज्ञान प्रदर्शनी का अवलोकन कराया गया। साथ ही चलित तारा मंडल से ग्रहों व तारों की चाल भी समझाई। यह आयोजन संस्कृति किड्स स्कूल में किया गया।

कार्यक्रम में जादू में विज्ञान में प्रयोग करके दिखाए और बताया कि उसके पीछे का साइंस क्या है। इसमें राजेन्द्र सिंह द्वारा 'जादू नही विज्ञान है के अंतर्गत विज्ञान के कई प्रयोग करवाए गए।

इसमें पानी का गायब होना, नारियल में आग लगना, खाली बक्से से बॉल निकालना, हवा में कपड़ों का कलर चेंज होना, किताब से गिटार निकालना इत्यादि प्रयोग प्रमुख रहे।इन्हें देख बच्चे आश्चर्यचकित हो गए। रेखासिंह द्वारा चलित विज्ञान प्रदर्शनी में बच्चों से खुद प्रयोग करवाए गए तथा प्यारेलाल द्वारा हैंडस ऑन एक्टीविटी करवाई गई। इसके बाद तारामंडल में डोम के अंदर राजेंद्रसिंह एवं अंशुल गुप्ता द्वारा विभिन्न गृहों व तारों की जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि राशियों के चारे चिन्ह आकाश में मौजूद हैं, जो दिखाई नहीं देते। चलित तारामंडल में राशियों के चिन्ह भी दिखाएं गए।

इस दौरान पूर्व जिपं अध्यक्ष मलकीतसिंह, जादू नहीं विज्ञान है के जिला समन्वयक गुना प्रदीप सोलंकी, जिला प्रभारी असलम बेग मिर्जा, स्कूल के डायरेक्टर देवेन्द्र सिंह, प्रिंसिपल इन्दरपाल कौर, ममता छाबड़ा, एडीपीसी बीके बमोरिया आदि उपस्थित रहे।

नहीं हो सके तारों व गृहों के दर्शन

इसके साथ ही रात के समय आकाश गंगा में तारों व गृहों को दिखाने का कार्यकम भी था।लेकिन बादल होने के कारण यह कार्यक्रम नहीं हो सका। इसमें बच्चों को चंद्रमा, वीनस आदि गृहों सहित तारामंडल आदि की जानकारी दी जानी थी।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???