Patrika Hindi News

भर दोपहरी बैंक से किया बाहर, पेमेंट  न मिलने से किसानों ने किया हंगामा

Updated: IST Ashoknagar, Support Price Wheat Purchase, Payment
अशोकनगर. खरीदी केन्द्रों पर उपज बेचने के पदं्रह दिन बाद भी किसानों को अपनी उपज का पैसा नहीं मिल रहा है। बैंक के अंदर किसानों की भीड़ हो जाने से बैंक प्रबंधन द्वारा चिलचिलाती धूप में किसानों को बंैक से बाहर कर दिया इससे नाराज किसानों ने बैंक के बाहर हंगामा कर दिया।

अशोकनगर. खरीदी केन्द्रों पर उपज बेचने के पदं्रह दिन बाद भी किसानों को अपनी उपज का पैसा नहीं मिल रहा है। बैंक के अंदर किसानों की भीड़ हो जाने से बैंक प्रबंधन द्वारा चिलचिलाती धूप में किसानों को बंैक से बाहर कर दिया इससे नाराज किसानों ने बैंक के बाहर हंगामा कर दिया।

गुरुवार को जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक में पैसा निकालने वाले किसानों की भारी भीड़ एकत्रित हो गई। भीड़ को देखते हुए बैंक प्रबंधन ने किसानों को बैंक के बाहर करते हुए लाइन लगवा दी। भरी दोपहरी की तपती धूप में बैंक के बाहर लाइन लगाने से नाराज किसानों ने हंगामा कर दिया। इस दौरान कई किसानों की झूमाझटकी सुरक्षा गार्ड से भी हुई। बैंक के बाहर लगी लाइन में कई उम्रदराज किसानों के साथ ही महिलाएं भी शामिल थी जिन्हें धूप में खड़ा होना मुश्किल हो रहा था। इस दौरान किसानों ने बताया कि पदं्रह दिन पहले उन्होंने अपनी उपज सोसायटी पर तुलाई थी, लेकिन दो सप्ताह का समय गुजरने के बाद भी उन्हें भुगतान नहीं मिल पाया है। किसानों को भुगतान के लिए बैंक के आए दिन चक्कर लगाना पड़ रहें है।

किसानों ने 8-10 दिन पहले पासबुक और निकासी पर्ची जमा कर दी है लेकिन पैसों की कमी के चलते उन्हें भुगतान नहीं किया जा रहा है और बैंक द्वारा आज कल कहकर टरकाया जा रहा है जिसकी वजह से उन्हें बार-बार बैंक के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। बैंक में पैसा गेहूं का पैसा निकालने आए किसानों को प्रबंधक द्वारा तपती दोपहरी में बाहर का रास्ता दिखाते हुए लाइन लगवा दी जिसके कारण किसानों को काफी परेशानी हुई। बैंक परिसर में किसानों के लिए न तो छांव थी और न ही इस भीषण गर्मी में पानी की व्यवस्था जिसके कारण वह इधर-उधर छांव देखते नजर आए। लाइन में लगे लोगो अपनी अपनी तोलियों से सिर को ढंकते हुए दिखे।

वृद्धों के लिए नहीं व्यवस्था

बैंक में पैसा निकलने के लिए महिलाओं के साथ ही कई वृद्ध भी पहुंचे थे लेकिन बैंक में वृद्धों के लिए कोई अलग से व्यवस्था न होने के कारण उन्हें काफी परेशान होना पड़ा। उल्लेखनीय है कि विगत दिनों एक बैंक में पैसा निकलने के लिए आई एक बुजुर्ग महिला की मौत गर्मी के कारण हो गई थी लेकिन प्रबंधन द्वारा इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

बैंक मैनेजर ने लिखा पत्र

किसानों के हंगामें के बाद बैंक मैनेजर द्वारा कलेक्टर एवं थाना प्रभारी को सुरक्षा के लिए पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग की। इस दौरान बैंक मैनेजर पीडी गुप्ता ने बताया कि बैंक में पैसों की कोई कमी नहीं है। किसानों की भीड़ अधिक होने के कारण और उनके द्वारा जल्दबाजी करने के फेर में भुगतान करने में परेशानी आ रही है। किसानों को लाइन में लगाकर एक-एक का भुगतान किया जा रहा है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???