Patrika Hindi News

हाफिज सईद ने यात्रा प्रतिबंध हटाने की मांग की

Updated: IST hafiz saeed
हाफिज सईद ने पाकिस्तान सरकार से देश छोडऩे से रोकने वाली सूची से अपना नाम हटाने को कहा

इस्लामाबाद। जमात-उद-दावा (जेयूडी) प्रमुख तथा साल 2008 में मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड हाफिद सईद ने पाकिस्तान सरकार से अपील की है कि उसे विदेश जाने की मंजूरी दी जाए। हाफिज सईद ने पाकिस्तान सरकार से देश छोडऩे से रोकने वाली सूची से अपना नाम हटाने को कहा। साथ ही यह भी कहा कि न तो उससे सुरक्षा को कोई खतरा है और न ही उसका संगठन किसी आतंकवादी गतिविधि में शामिल रहा है।

देश के आंतरिक मंत्री चौधरी निसार अली खान को भेजे एक पत्र में उसने कहा, बीते 30 जनवरी को 38 लोगों को देश छोडऩे से रोकने वाली सूची में शामिल किया गया था, जिसे जल्द से जल्द वापस लिया जाना चाहिए।

डॉन न्यूज की गुरुवार की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार ने शांति व सुरक्षा को नुकसान पहुंचाने वाली गतिविधियों में शामिल होने को लेकर सईद तथा चार अन्य नेताओं को 90 दिनों के लिए नजरबंद कर दिया है।

यह तर्क देते हुए कि न्यायालय में कोई सबूत पेश नहीं किया गया, सईद ने कहा, जमात-उद-दावा पाकिस्तान में किसी भी आतंकी गतिविधि में शामिल नहीं रहा है और संगठन के खिलाफ आतंकवाद या संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से संबंधित कोई आरोप नहीं लगा है।

शरीफ की पार्टी के सांसद ने पूछा, हाफिज को हमने क्यों पाल रखा है

पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी में आतंकियों पर कार्रवाई नहीं करने को लेकर सवाल उठने लगे हैं। पीएमएल-एन के एक सांसद ने जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

पाकिस्तान के समाचार पत्र द डॉन के मुताबिक गुरुवार को नेशनल असेंबली की फॉरेन अफेयर्स कमेटी की बैठक हुई। बैठक में पाकिस्तान के दुनिया में अलग थलग पडऩे पर चर्चा हुई। मीटिंग में पीएमएल-एन के सांसद राणा मोहम्मद अफजल ने पूछा,आखिर हाफिज सईद जैसे नॉन स्टेट एक्टर्स को हम बढऩे का मौका क्यों दे रहे हैं। क्यों नहीं हम हाफिज जैसे लोगों के पर कतर रहे हैं? हाफिज सईद ऐसे कौन से अंडे देता है,जिसकी वजह से हमने उसे पाल रखा है।

राणा ने कहा, हमारी विदेश नीति के ये हाल हो गए हैं कि हम आज तक हाफिज सईद जैसे लोगों को खत्म नहीं कर पाए हैं। भारत उसका मसला हमें घेरने के लिए उठाता है। फॉरेन डेलिगेशन भी उसे भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव की खास वजह मानते हैं। फ्रांस के हालिया दौरे का जिक्र करते हुए राणा ने कहा कि वहां लोगों ने कश्मीर के हालात पर बात की। ये भी पूछा कि हाफिज का नाम ही हर बार सामने क्यों आता है?

राणा के मुताबिक उन्होंने अपने 25 साल के राजनीतिक करियर में सईद का नाम बहुत कम सुना लेकिन दुनियाभर में उसे खतरनाक शख्स माना जाता है। हमें ये समझना होगा कि कश्मीर मसले में वो हमारे लिए अच्छा साबित हुआ या बुरा? कश्मीर पर सरकार का रूख सही है लेकिन उन संगठनों पर बैन लगाया जाना चाहिए जो देश की बेइज्जती करा रहे हैं। भारत सईद के नाम पर पाकिस्तान को दुनियाभर में बदनाम कर रहा है।

बुधवार को पाकिस्तान संसद के संयुक्त सत्र में विपक्ष के नेता एतजाज एहसान ने भी नॉन स्टेट एक्सर्ट पर सवाल उठाए थे। एहसान ने कहा था,हम दुनिया में अकेले पड़ गए हैं। इसकी वजह ये है कि हमारे यहां नॉन स्टेट एक्टर्स खुलेआम घूमते हैं। ये इस्लामाबाद और कराची में भाषण देते हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???