Patrika Hindi News

ICJ में हार के बाद PAK ने भारत की NSG सदस्यता पर लगाया यह आरोप 

Updated: IST india pakistan
ICJ में मिली हार के बाद पाकिस्तान ने भारत पर परमाणु हथियारों के गलत निर्माण का आरोप मढ़ा है। पाक का कहना है कि भारत एनससजी में शांतिपूर्ण व्यवस्था के लिए दिए गए न्यूक्लियर मैटेरियल का इस्तेमाल हथियार बनाने के लिए कर रहा है।

नई दिल्ली. अंतर्राष्ट्रीय न्याय अदालत (ICJ) में मिली हार के बाद पाकिस्तान ने भारत पर परमाणु हथियारों के गलत निर्माण का आरोप मढ़ा है। पाकिस्तान का कहना है कि भारत न्यूक्लियर स्पलायर्स ग्रुप (एनससजी) में शांतिपूर्ण व्यवस्था के लिए दिए गए न्यूक्लियर मैटेरियल का इस्तेमाल हथियार बनाने के लिए कर रहा है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने दुनिया को आगाह करते हुए कहा कि भारत की ये गतिविधी पूरी दुनिया के लिए खतरनाक साबित होगी। इस पर जल्द कड़ा कदम उठाया जाना चाहिए। बता दें कि एनएसजी दुनिया के विभिन्न देशां को शांतिपूर्ण व्यवस्था के लिए परमाणु ईधन, सामान और तकनीक देती है। पाक का आरोप है कि भारत इन सामानों का उपयोग कर परमाणु बम बना रहा है।

क्या कहा जकारिया ने
पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने प्रेस कॉन्फ्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि भारत इस ग्रुप के तहत न्यूक्लियर फ्यूल, सामान और तकनीक का इस्तेमाल हथियार बनाने में कर रहा है। भारत का परमाणु ऊर्जा का इस तरह दुरुपयोग परमाणु प्रसार से जुड़ा एक गंभीर मुद्दा है बल्कि यह दक्षिण एशिया के साथ-साथ पाकिस्तान की राष्ट्रीय सुरक्षा पर भी गंभीर प्रभाव डाल सकता है।

हार्वर्ड केनेडी स्कूल की रिपोर्ट के हवाले से
जकारिया ने भारत पर इस आरोप को लगाने के लिए हार्वर्ड केनेडी स्कूल की रिपोर्ट का हवाला लिया। जकारिया ने कहा कि न केवल इस पेपर में बल्कि कई अन्य दूसरी रिपोर्ट में भारत को विदेश से मिल रहे न्यूक्लियर मटीरियल के असुरक्षित न्यूक्लियर रिएक्टर्स में होने वाले इस्तेमाल पर चिंताएं जताई जा रही हैं। जकारिया ने एक अन्य रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि भारत ने 2600 न्यूक्लियर हथियारों का मटीरियल जुटा लिया है और एनएसजी के दायरे में आने वाले देशों की जिम्मेदारी है कि वह इस मामले पर ध्यान दें।

भारत की सदस्यता पर उठाया सवाल
जकारिया ने भारत की एनएसजी सदस्यता के लिए चलाए जा रहे मुहिम पर सवाल उठाया। उन्होंने दावा किया कि भारत के खिलाफ कई इंटरनैशनल न्यूक्लियर एक्सपर्ट, थिंक टैंक अपनी रिपोर्ट दे चुके है। कई मीडिया रिपोर्ट्स में भी भारतीय न्यूक्लियर प्रोग्राम में कथित तौर पर ट्रांसपेरेंसी और अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा मानकों में कमी बताई जा चुकी है। ऐसे में एनएसजी में भारत को कैसे शामिल किया जा सकता है।

कश्मीर राग भी अलापा
अपने प्रेस कॉन्फ्रेस के अंत में जकारिया ने कश्मीर पर भी बात की। जकारिया ने कहा कि आरएसएस कश्मीर में अपनी यूनिट्स तैनात कर रहा है। इन यूनिट्स की देखरेख गैर कश्मीरी लोगों के हाथ में है। यह सब कश्मीरियों को डराने के लिए किया जा रहा है। हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील करते है कि वे कश्मीर के हालात पर ध्यान दें।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???