Patrika Hindi News

आजमगढ़ में भड़की हिंसा, उपद्रवियों ने दलित बस्ती में लगाई आग

Updated: IST uproar in azamgarh
गोलीबारी में एक व्यक्ति घायल, इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात

आजमगढ़. पुलिस की लापरवाही के चलते एक बार फिर जिले में हिंसा भड़क गई। गुरूवार की रात हुए सांप्रदायिक विवाद ने फिर तूल पकड़ा और निजामाबाद के खोदादपुर में दो पक्षों के बीच जमकर झड़प हुई। झड़प के दौरान गोलीबारी में एक व्यक्ति घायल हो गया। बवाल के बाद मौके पर पहुंचे एसडीएम निजामाबाद अनिल कुमार सिंह भी बुरी तरह घायल हो गये।

पुलिस के सामने शनिवार की शाम करीब 5.30 बजे शुरू हई मारपीट ने हिंसक रूप ले लिया। एक समुदाय के लोगों ने दलित बस्ती में आग लगा दी। वहीं दोनों समुदाय के लोग एक दूसरे पर ईट पत्थर से हमला कर रहे है। पीएसी, दंगा नियंत्रण टीम भी स्थित को नियंत्रित करने में नाकाम है। गोलीबारी में एक व्यक्ति घायल हो गया। उपद्रवियों ने एक वीवीआईपी गाड़ी जिस पर लालबत्ती लगी थी, उसको भी निशाना बनाया।

बता दें कि गुरूवार की रात करीब 9.45 बजे निजामाबाद थाना क्षेत्र के फरीदाबाद तिराहे के पास मामूली विवाद ने सांप्रदायिक हिंसा का रूप ले लिया था। इसके बाद मौके पर पांच थानों की पुलिस तैनात कर दी गयी थी। लेकिन अगले दिन पुलिस फोर्स हटा ली गयी। जबकि यहां होली के दिन भी दंगा हो चुका था। इस मामले में खोदादादपुर गांव निवासी मुसाफिर पुत्र सीताराम ने गांव के प्रधान के पुत्र के खिलाफ नामजद मामला पंजीकृत कराया था।

शनिवार की शाम करीब 5.30 बजे दो दिन पहले पिटा दलित युवक मुसाफिर फरिहा चौकी इंचार्ज और तीन सिपाही के साथ खोदादादपुर पहुंचा। पुलिस को देख प्रधान पुत्र भागने लगा। बाइक सवार मुसाफिर नें उसका पीछा किया और पकड़ने के चक्कर में बाइक से प्रधान पुत्र को धक्का लग गया। यह देख बगल में वालीबाल खेल रहे युवकों ने मुसाफिर पर हमला कर दिया। मुसाफिर वहां से भाग गांव के लोगों को घटना की जानकारी दिया तो सैकड़ों की संख्या में लोग सड़क पर आ गये। इसी बीच किसी ने घटना की जानकारी पुलिस को दे दी।

डीएम सुहास एलवाई और पुलिस अधीधक दयानंद मिश्र मय फोर्स मौके पर पहुचे। दर्जन भर थानों की फोर्स, दंगा नियंत्रण टीम, पीएसी भी बुला ली गयी। लेकिन तब तक हालात नियंत्रण के बाहर हो चुका था। मुस्लिम समुदाय के लोगों ने पुलिस के सामने ही मुसाफिर की मड़ई और एक गुमटी फूंक दी। जब यह बात आस पास के गांव के लोगों को पता चली तो दर्जन भर लोग सड़क पर आ गये। देखते ही देखते दंगा बनगांव और फरीदाबाद तक फैल गया। हालात नियंत्रण के बाहर देख पुलिस ने हवाई फायरिंग और लाठी चार्ज किया। इसके बाद स्थित नियंत्रण के बाहर रही तो पुलिस ने आंसू गैस का प्रयोग किया।

इसी दौरान हमलावरों ने हमला कर एसडीएम निजामाबाद अनिल कुमार सिंह को भी घायल कर दिये। लाठी चार्ज में करीब दर्जन भर लोग घायल हुए। वहीं उपद्रवियों ने बनगांव व फरीदाबाद में दर्जन भर वाहनों का तोड़ दिया। इसके बाद पुलिस ने कड़ रूख अख्तियार किया और लोगों को दौड़ाकर पीटना शुरू किया तो रात करीब 9.45 बजे भीड़ तितर बितर हो गयी। लेकिन क्षेत्र में गुरिल्ला युद्ध जारी है। पीएसी स्थित को नियंत्रण में करने का प्रयास कर रही है। पुलिस अधीक्षक दयानंद मिश्र का कहना है कि स्थित नियंत्रण में हैं। पुलिस द्वारा गांवों में चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???