Patrika Hindi News
UP Scam

वीडियो में देखें कानून का हाल, इंसाफ के लिए भीख मांग रही रेप पीड़िता

Updated: IST bahraich
पुलिस की हीलाहवाली से तंग आकर एक दुष्कर्म पीड़िता आरोपी की गिरफ्तारी के लिए अनिश्चित कालीन धरने पर बैठ इन्साफ की राह देख रही है

बहराइच. उत्तर प्रदेश में सपा सरकार के मुखिया अखिलेश यादव महिला अपराध जैसे संगीन मामलों को लेकर जितने संजीदा हैं, उतना ही उनके नियंत्रण से चलने वाली पुलिस महिला अपराध के मामलों पर शख्त कार्यवाही करने के बजाय घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों के पक्ष में मामले की लीपापोती करने में अपना कुछ ज्यादा ही फायदा समझ रही है। जिसके चलते मजबूरन पीड़ित फरियादियों को इन्साफ कि खातिर सत्याग्रह का रास्ता अख्तियार करना पड़ रहा है। ताजा मामला थाना कैसरगंज इलाके से जुड़ा हुआ है। जहां कि पुलिस की हीलाहवाली से तंग आकर एक दुष्कर्म पीड़िता आरोपी की गिरफ्तारी के लिए अनिश्चित कालीन धरने पर बैठ इन्साफ की राह देख रही है।

जिलाधिकारी कार्यालय के पास बने धरना स्थल पर बैठी दुष्कर्म पीड़िता खैरीघाट इलाके की रहने वाली है। जो काफी गरीब तबके की महिला है। जिसकी गरीबी का फायदा उठाकर उसे गांव का ही रहने वाला इन्द्रसेन नाम का एक अध्यापक अपनी तैनाती स्थल कैसरगंज के प्राथमिक स्कूल में रसोईया के पद पर नौकरी दिलाने का झांसा देकर अपने साथ ले गया। बंधक बनाकर उसके साथ घिनौना काम किया।

इन्द्रसेन नाम के शिक्षक द्वारा किये गए बर्ताव से आहत पीड़िता ने थाने जाकर FIR दर्ज करायी और 164 का बयान भी मजिस्ट्रेट के सामने पीड़िता द्वारा दिया जा चुका है। उसके बावजूद अभी तलक आरोपी बलात्कारी शिक्षक को स्थानीय पुलिस द्वारा एक अर्सा बीत जाने के बावजूद अभी तलक गिरफ्तार नहीं किया गया। जिससे आरोपी की तरफ से लगातार सुलह का दबाव बनाया जा रहा है। पीड़िता का आरोप है कि स्थानीय पुलिस आरोपी को बचाने के लिए उससे मोटी रकम डकार कर मामले में कार्रवाई के बजाय हीलाहवाली बरत रही है। इसी पीड़ा से ग्रसित एक दुष्कर्म पीड़िता बीते 26 नवम्बर से धरना स्थल पर आरोपी की गिरफ्तारी और बर्खास्तगी की मांग को लेकर अनिश्चित कालीन धरने पर बैठी हुयी है। अब देखना है कि इस तस्वीर को देखने के बाद जिम्मेदार हाकिम लापरवाही करने वालों के खिलाफ क्या एक्शन लेते हैं।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???