Patrika Hindi News

Photo Icon पूर्व एनएसयूआई अध्यक्ष ने किया विरोध

Updated: IST balaghat
. महाविद्यालयों में कुछ दिनों से स्वाध्यायी परीक्षा का दौर चल रहा है। इसमें महाविद्यालय प्रबंधन द्वारा अनियमितता की जा रही है

बालाघाट. महाविद्यालयों में कुछ दिनों से स्वाध्यायी परीक्षा का दौर चल रहा है। इसमें महाविद्यालय प्रबंधन द्वारा अनियमितता की जा रही है। प्रायवेट परीक्षाओं में कॉलेज के नियमित अध्ययनरत् छात्र-छात्राओं की ड्यूटी लगाई जा रही है। इससे छात्र-छात्राओं की पढ़ाई प्रभावित हो रही है।

पूर्व एनएसयूआई अध्यक्ष विद्या परिहार ने कॉलेज प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए कहा कि कॉलेज के शिक्षक-शिक्षिकाओं द्वारा अपने विभागों में अध्ययनरत् एमए व एमएससी के विद्यार्थियों की ड्यूटी लगा रहे है। इससे स्वाध्यायी परीक्षाओं में छात्रों को परीक्षक बनना पड़ रहा है। इससे नियमित कक्षाओं में न शिक्षक पढ़ा रहा है न छात्र पढ़ रहे है। इससे भविष्य में होने वाली नियमित कक्षाओं की परीक्षाओं में छात्र-छात्राओं को परेशानी उठानी पढ़ेगी। उन्होंने कॉलेज प्राचार्य से मांग की है कि इन प्रायवेट परीक्षाओं में स्टॉफ की कमी को देखते हुए अन्य शिक्षित बेरोजगारों की ड्यूटी परीक्षाओं में लगाया जाए। यह सूचना जिले के सभी कॉलेजों में घोषित किया जाए।

इनका कहना है

स्टॉप की कमी होने से स्थानीय स्तर पर कॉलेज में अध्ययनरत् छात्र-छात्राओं को वीक्षक बनाया गया है। लेकिन ऐसा कोई निर्देश नहीं है।

डॉ. प्रवीण श्रीवास्तव, प्राचार्य

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???