Patrika Hindi News

Photo Icon
जब गौरव तिवारी की जांच में नपे थे कई आरटीओ और अधिकारी, यहां क्लिक कर पढ़े पुरी खबर

Updated: IST balaghat
एसपी गौरव तिवारी का बालाघाट जिले में भी सराहनीय कार्यकाल रहा था। चाहे टीपी कांड हो या फिर वाहनों का फर्जी पंजीयन कर क्रय विक्रय का मामला उनके द्वारा जब भी जांच शुरू की गई, तो जांच को अंजाम तक पहुंचा के ही दम लिया गया।

बालाघाट. अपनी ईमानदारी छवि और कार्यप्रणाली के चलते आमजनों के दिलों में जगह बनाने वाले कटनी एसपी गौरव तिवारी का बालाघाट जिले में भी सराहनीय कार्यकाल रहा था।
चाहे टीपी कांड हो या फिर वाहनों का फर्जी पंजीयन कर क्रय विक्रय का मामला उनके द्वारा जब भी जांच शुरू की गई, तो जांच को अंजाम तक पहुंचा के ही दम लिया गया।
बालाघाट जिले के बहुचर्चित वाहन फर्जीवाड़ा मामले की बात करें, तो उनकी इस मामले की जांच में तीन जिला परिवहन करते, कई कार्यालय अधिकारी और ठेकेदार तक नप गए थे। वहीं दो दर्जन से अधिक वाहनों के पार्ट व चेचिस नंबर बदलकर दस चका व चौपहिया वाहनों को पार लगाने वाले माफियाओं को भी उन्होंने हवालात के पीछे पहुंचा दिया। भले ही उनका बालाघाट से तबादला हो चुका है और वें नहीं है, लेकिन उनके जाने के बाद भी बालाघाट सहित आस-पास के कुछ जिलों में वाहनों की अवैध रूप से खरीद फरोख्त का कारोबार लगभग बंद सा हो गया है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???