Patrika Hindi News

> > > > Private nursing homes inspected or made own investigation?

Video Icon निजी नर्सिंग होम का निरीक्षण किया या फिर कराई स्वयं की जांच?

Updated: IST balaghat
जिला चिकित्सालय में पदस्थ निश्चेतना विशेषज्ञ को शुक्रवार को अपना ही उपचार कराने के लिए अस्पताल में कोई डॉक्टर नहीं मिला।

बालाघाट. जिला चिकित्सालय में पदस्थ निश्चेतना विशेषज्ञ को शुक्रवार को अपना ही उपचार कराने के लिए अस्पताल में कोई डॉक्टर नहीं मिला। वे अपने स्वास्थ्य की जांच कराने के लिए बैहर रोड स्थित डॉ. अशोक लिल्हारे के क्लीनिक अपनी तीन सदस्यीय टीम के साथ पहुंचे। यहां भले ही उन्होंने अपना स्वास्थ्य परीक्षण कराया हो लेकिन वास्तविकता इससे परे है। दरअसल, यह टीम डॉ. अशोक लिल्हारे द्वारा संचालित नर्सिंग होम की जांच करने पहुंची थी। लेकिन उनके पहुंचने के पहले ही जांच अधिकारियों ने इसकी सूचना उन्हें दे दी। सूचना मिलने पर डॉक्टर अशोक लिल्हारे ने अपना पूरा नर्सिंग होम खाली करवा दिया।

वार्डों में ताला जड़ दिया।

जानकारी के अनुसार डॉ. अशोक लिल्हारे द्वारा नियम विरूद्ध निजी नर्सिंग होम संचालित किए जाने की शिकायत की गई थी। जिसके आधार पर शुक्रवार को जिला चिकित्सालय का तीन सदस्यीय दल जांच करने के लिए नर्सिंग होम पहुंचा था। विडम्बना यह है कि यहां अधिकारियों के पहुंचने से पूर्व ही डॉक्टर को इसकी सूचना दे दी गई। जिसके चलते वे अलर्ट हो गए। जब जांच अधिकारी नर्सिंग होम पहुंचे तो पहले करीब एक घंटे तक बंद कमरे में ही गुफ्तगू होते रही। इसके बाद मीडिया के बढ़ते दबाव के चलते उन्होंने नर्सिंग होम के जांच का रूख ही पलट दिया। हालांकि, जांच अधिकारियों ने ऐसा क्यों और किसके कहने पर किया, इस बात का खुलासा नहीं हो पाया।

जांच करने पहुंचे थे नर्सिंग होम

सूत्रों से मिली जानकारी के शुक्रवार की दोपहर करीब 1 बजे जिला चिकित्सालय की तीन सदस्यीय टीम बैहर रोड में संचालित डॉ. अशोक लिल्हारे के निजी नर्सिंग होम की जांच करने के लिए पहुंचे थे। इस जांच टीम में जिला चिकित्सालय में पदस्थ निश्चेतना विशेषज्ञ सतीशचंद्र मेश्राम, क्षय रोग विशेषज्ञ मनोज पंाडे और एक अन्य शामिल है। यहां अधिकारियों की टीम करीब तीन-चार घंटे एक बंद कमरे में बैठे रहे। जांच के नाम पर खानापूर्ति कर दी। उन्होंने बंद कमरे में ही पूरी जांच कर दी। मीडियाकर्मी के पहुंचने पर जांच अधिकारी व निश्चेतना विशेषज्ञ सतीशचंद्र मेश्राम अलग-अलग बयान देते रहे।

ऐसे पलटे डीएचबी के निश्चेतना विशेषज्ञ

पत्रकारों के सवालों पर निश्चेतना विशेषज्ञ गोलमोल जवाब देते रहे। पहले उन्होंने कहा कि वे सामान्य तौर पर नर्सिंग होम पहुंचे हैं। इसके बाद उन्होंने स्वयं की जांच डॉ. अशोक लिल्हारे से कराने की बात कहने लगे। जब उनसे जिला चिकित्सालय में डॉक्टर के नहीं मिलने का सवाल किया गया तो उन्होंने पहले स्पष्ट कहा कि उन्हें कोई डॉक्टर नहीं मिला। उन्हेांने तत्काल ही अपने बयान को पलट कर चिकित्सक वार्ड में निरीक्षण के लिए जाने की संभावना व्यक्त कर दी। इस तरह से निश्चेतना विशेषज्ञ सतीशचंद्र मेश्राम अपने बयान से पलटते रहे।

वार्डों में जड़ा ताला

शुक्रवार को जांच अधिकारियों के नर्सिंग होम पहुंचने से पहले ही डॉ अशोक लिल्हारे के यहां संचालित वार्डों को खाली करवा दिया। वार्ड में भर्ती मरीजों को अलग शिफ्ट करा दिया। सभी कक्षों में ताला जड़ दिया गया। बावजूद इसके डॉ. अशोक लिल्हारे नर्सिंग होम में किसी भी तरह से मरीजों को भर्ती नहीं किए जाने की बात कहते रहे। विडम्बना यह है कि इस नर्सिंग होम में पैथोलॉजी का भी संचालन किया जा रहा था।

वर्सन

मै इस नर्सिंग होम में पिछले तीन से भर्ती हूं। शुक्रवार की सुबह अचानक उन्हें वार्ड से हटा दिया। वार्ड में ताला जड़ दिया गया। इसी नर्सिंग होम में उनकी सभी प्रकार की जांच, पैथोलॉजी टेस्ट भी हुए है।

-नरेन्द्र रनगिरे, नर्सिंग होम में भर्ती मरीज

मै इस नर्सिंग होम में दो दिन से भर्ती हूं। मेरे मर्ज से संबंधित सभी प्रकार के पैथोलॉजी परीक्षण इसी नर्सिंग होम में कराए गए हैं। शुक्रवार की सुबह ही उन्हें वार्ड से अलग शिफ्ट कर दिया गया।

-सावित्री बाई, महिला मरीज

निश्चेतना विशेषज्ञ सतीशचंद्र मेश्राम उपचार कराने के लिए क्लीनिक पहुंचे थे। वे क्लीनिक की जांच करने नहीं आए थे। उनके क्लीनिक में किसी मरीज को भर्ती नहीं किया जाता है। गंभीर मरीजों को एक दिन आब्जर्वेशन में रखकर छुट्टी दे दी जाती है। क्लीनिक में किसी प्रकार की पैथोलाजी संचालित नहीं की जाती है।

-डॉ. अशोक लिल्हारे, नर्सिंग होम संचालक

मै यहां स्वयं की जांच के लिए पहुंचा हूं। जिला चिकित्सालय में मुझे कोई भी चिकित्सक नहीं मिल पाया। नर्सिंग होम की जांच करने जैसी कोई बात नहीं है।

-सतीशचंद्र मेश्राम, निश्चेतना विशेषज्ञ, डीएचबी बालाघाट

विडियो दंखने क्लिक कंरे

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे