Patrika Hindi News

बीएसए का ताबड़तोड़ औचक निरीक्षण, शिक्षक राइटटाइम और बच्चे नदारद

Updated: IST primary School
परिषदीय स्कूलों में बच्चों की उपस्थिती अध्यापकों के लिए सर दर्द बनी हुई है।

बलरामपुर. सत्ता परिवर्तन के बाद योगी सरकार शिक्षा विभाग में फैली अनिमितताओं को दूर करने का हर संभव प्रयास कर रही है। सीएम योगी के सख्त रवैये का असर देखने को मिला और योगी सरकार के मंत्रियों और विधायकों ने परिषदीय स्कूलों का औचक निरीक्षण शुरू किया। निजाम के सख्त तेवर देख जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने भी टीम का गठन कर परिषदीय विद्यालयों का निरीक्षण शुरू कर दिया है। बीएसए के सख्त रवैये से विद्यालयों में शिक्षक तो नियमित हो गए परंतु बच्चे नदाराद हैं।

परिषदीय स्कूलों में बच्चों की उपस्थिती अध्यापकों के लिए सर दर्द बनी हुई है। लाख कोशिशों के बाद भी ग्रामीण क्षेत्र के बच्चे स्कूल की ओर रूख नहीं कर रहे हैं। प्राथमिक विद्यालय औतारपुर में नामांकित 96 छात्रों में से मौके पर कुल आठ छात्र ही उपस्थित मिले। प्राथमिक विद्यालय गैंडास बुजुर्ग प्रथम में नामांकित छात्रों की संख्या 116 है, परन्तु उपस्थित 40 छात्र ही मिले। इसी क्रम में प्राथमिक विद्यालय हन्नीडीह में नामांकित छात्र 83 है, परंतु 38 छात्र मौजूद रहे। प्राथमिक विद्यालय दुधरा में नामांकित 126 छात्रों में उपस्थिति 48 की पाई गई। जिले के लगभग 90 प्रतिशत परिषदीय विद्यालयों में 50 प्रतिशत से भी कम बच्चों की उपस्थिति रहती है। बीएसए के औचक निरीक्षण से शिक्षक तो पटरी पर आ गए परंतु बच्चों को स्कूल तक पहुंचाना अध्यापकों के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???