Patrika Hindi News

> > > > Balod : MLA Roy said area will be illegal stone quarry off

विधायक राय बोले क्षेत्र के अवैध पत्थर खदान होंगे बंद

Updated: IST Porous stone houses had cracks in the mine blast
ग्राम फूलसुंदरी में पत्थर खदान से गांव के रहवासियों की चिंता बढ़ गई है। सालों पहले बने मकानों की दीवारें खदानों में किए जा रहे ब्लॉस्टिंग के कारण फटने लगी हैं।

बालोद. ग्राम फूलसुंदरी में नियम विपरीत चल रहे पत्थर खदान से गांव के रहवासियों की चिंता बढ़ गई है। सालों पहले बने मकानों की दीवारें खदानों में किए जा रहे ब्लॉस्टिंग के कारण फटने लगी हैं। कई घरों के छप्पर गिर चुके हैं। ऐसे में अच्छा-खासा चल रहा जीवन खतरे में है। यहां के लोगों का हर पल घर गिर जाने का डर सता रहा है। पर अवैध कारोबारियों को इससे मतलब नहीं है।

ग्रामीणों ने नाराजगी जाहिर की
मामले में शिकायत पर विधायक राजेन्द्र कुमार राय चुनाव जितने के बाद पहली बार गांव पहुंचे थे। विधायक के पहुंचते ही ग्रामीणों ने उनके सामने पहले तो जमकर नाराजगी जाहिर की। कहा लोग गांव में अवैध पत्थर खनन कर गांव को उजाडऩा चाहते हैं। बिना अनुमति ब्लॉस्टिंग कर अच्छा-खासा घरों को बर्बाद कर रहे हैं।

40 से 50 घरो का किया निरीक्षण
इस दौरान विधायक राय ने लोगों को शांत कराते हुए कहा कि जैसे ही मुझे मामले की जानकारी हुई तत्काल गांव पहुंचा हूं। विधायक की बातों से ग्रामीण भावुक होते हुए खदान के विस्फोट से हुए घरों की छति को देखने कहा। पहली बार ग्रामीणों के बीच पहुंचे विधायक ने इस दौरान लगभग 40 से 50 घरों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने लोगों को मुआवजा दिलाने के साथ अवैध रूप से चल रहे खदानों को बंद करवाने का आश्वासन दिया।

खदान की गहराई देखकर दंग रह गए विधायक
वहीं तमाम औपचारिकता के बाद ग्रामीणों के अनुरोध पर विधायक राजेन्द्र राय व उनके साथ आए पूर्व विधायक डोमेन्द्र भेडिय़ा ग्रामीणों के साथ पत्थर खदान पिनकापार ले गए जहां लगभग आठ से दस हजार ट्रक गिट्टी का ढेर लगा हुआ मिला। लगभग चार सौ फीट चौड़े व 70 से 80 फीट गहरे खदान की गहराई देखकर विधायक भी दंग रह गए।

गहराई 70 से 80 फीट

विधायक ने खदान देखते ही उसकी गहराई का अंदाजा लगाते हुए कहा पानी का रंग नीला समुद्री जैसा है। इससे पता चलता है यहां काफी गहराई तक खुदाई की गई है। उन्होंने कहा अगर पानी हरा रहता तो समझ में आ जाता है कि कम खुदाई हुई है तो वहीं मौजूद ग्रामीणों ने जानकारी दी कि गहराई 70 से 80 फीट है।

मांगी सुविधाएं
वहीं डॉ. नरेंद्र साहू ने कहा गांव में कई गलियों में कीचड़ है। इसके लिए सीसी रोड की स्वीकृत दिलाई जाए। राशन दुकान का संचालन सतनामी समाज के मंगल भवन में हो रहा है इसके लिए अलग से भवन बनाया जाए। गांव में आयोजन के लिए सामुदायिक भवन का अभाव है। विशेष अवसरों व बड़े आयोजन में स्कूल भवन का सहारा लेना पड़ता है। इससे बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित होती है। मौके पर फूलसुंदरी की निर्मला कोठारी, पद्मनी बाई बगरिया सहित अन्य ग्रामीण मौजूद रहे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे