Patrika Hindi News

ऐसा Block जहां 150 से अधिक झोलाछाप Doctor, ओवरडोज से कई की चली गई है जान

Updated: IST doctor clinic
नियमों को ताक पर रखकर चला रहे क्लीनिक व पैथोलैब, स्वास्थ्य विभाग को जांच करने की नहीं है फुरसत

वाड्रफनगर. बलरामपुर-रामानुजगंज के वाड्रफनगर ब्लॉक में झोलाछाप डॉक्टरों की भरमार है। इनके द्वारा नियमों को ताक पर रखकर क्लीनिक व पैथोलैब का संचालन किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि 87 ग्राम पंचायतों वाले इस ब्लॉक में 150 से भी अधिक झोलाछाप डॉक्टर सक्रिय हैं।

इन डॉक्टरों के पास इलाज से कई लोगों की मौत हो चुकी है। इसके बाद भी इनका कारोबार धड़ल्ले से जारी है। इधर स्वास्थ्य महकमे द्वारा इन क्लीनिकों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। ऐसा लगता है जैसे स्वास्थ्य विभाग ने इन्हें खुली छूट दे रखी हो।

ब्लॉक मुख्यालय के सभी 87 ग्राम पंचायतों में इन दिनों झोलाछाप चिकित्सकों के लगभग 150 से 200 क्लिनिक संचालित हैं। इन क्लिनिकों में पश्चिम बंगाल, उत्तरप्रदेश, झारखंड, बिहार तथा मध्यप्रदेश के कई झोलाछाप चिकित्सक अपनी क्लिनिकों का संचालन कर रहे हैं। इनके द्वारा प्रतिबंधित दवाओं का धड़ल्ले से उपयोग किया जा रहा है।

दवाओं की मात्रा तथा असर की पूर्ण जानकारी झोलाछाप चिकित्सकों का न होने के कारण ओवरडोज की वजह से कई लोगों की मौत हो चुकी है। वाड्रफनगर, पनसरा, ढोढ़ी बूढ़ाडांड़, कोटराही, बरतीकला, शिवरी, सावित्रीपुर, इंजानी, भगवानपुर, चलगली, शारदापुर, पेण्डारी, महेवा, पण्डरी, केनवारी, रघुनाथनगर, बलंगी, बसंतपुर, फूलीडूमर, स्याही, सरना, केसारी, करमडीहा, सुलसुली, विरेंद्रनगर, डिंडो के साथ ही अनेक ग्रामों में ऐसे झोलाछाप चिकित्सकों के क्लिनिक संचालित हो रहे हैं।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र वाड्रफनगर के अंतर्गत आने वाले 6 सेक्टर वाड्रफनगर, पण्डरी, रघुनाथनगर, बलंगी, बसंतपुर, बड़कागांव में लगभग आने वाले सभी गांवों में झोलाछाप चिकित्सकों की भरमार है।

साथ ही जगह-जगह अवैध पैथोलैब भी संचालित है। इस संबंध में बीएमओ डॉ. दीपक कुमार ने कहा कि ऐसे झोलाछाप चिकित्सकों की सूची सेक्टर अनुसार मंगाई जा रही है। इसके बाद उच्च अधिकारियों के निर्देश पर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???