Patrika Hindi News

BPL ग्रामीणों की सुबह से हो गई शाम और LED Bulb उन्हें दिए जिन्होंने दिए रुपए

Updated: IST rural
उजाला योजना के तहत एलईडी बल्ब का किया गया वितरण, बीपीएल कनेक्शन धारियों ने वितरण में लगाया भेदभाव का आरोप

बासेन. बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के ग्राम पंचायत जिगड़ी में उजाला योजना के तहत एलईडी बल्ब का वितरण किया गया। इसके लिए आस-पास के गांवों में मुनादी कराकर बीपीएल कनेक्शनधारियों को बुलाया गया था। सुबह से पहुंचे ऐसे ग्रामीणों की शाम हो गई लेकिन उन्हें बल्ब नहीं दिया गया। वहीं जिन्होंने रुपए दिए उन्हें बल्ब दे दिया गया।

शाम होने पर जब ग्रामीणों ने बल्ब देने की बात कही तो वितरण कर्ताओं ने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि अब हमारे पर समय नहीं बचा है। इससे ग्रामीण आक्रोशित होकर घर चले गए। उन्होंने बल्ब वितरण में भेदभाव का आरोप लगाया है।

ग्राम जिगड़ी के पंचायत भवन में सोमवार को उजाला योजना के तहत बीपीएल कनेक्शनधारियों को एलईडी बल्ब का वितरण किया जाना था। इसके लिए जिगड़ी व आसपास के गांव में मुनादी कराई गई थी। सुबह से ही बड़ी संख्या में बीपीएल कनेक्शनधारी बल्ब लेने के लिए पंचायत भवन पहुंच गए थे।

लेकिन बल्ब वितरण कर रहे लोगों ने पहले उन्हें बल्ब दिया जो रुपए दे रहे थे। लेकिन बीपीएल कनेक्शनधारी इंतजार ही में बैठे रहे। देर शाम तक यही स्थिति बनी रही, उन्हें ही बल्ब दिया गया जो रुपए दे रहे थे। शाम को जब बीपीएल कनेक्शनधारियों की बारी आई तो कर्मचारियों ने कह दिया कि हमारे पास अब समय नहीं बचा है।

ऐसा कहकर वे चले गए। इससे करीब 7-8 किलोमीटर की दूरी तय कर महगई से जिगड़ी पहुंचे ग्रामीणों को मायूस होकर वापस लौटना पड़ा। कर्मचारियों के बल्ब वितरण में किए गए भेदभाव से ग्रामीणों में काफी आक्रोश है। साथ ही कुछ ग्रामीणों ने बताया कि इस योजना के तहत वितरित किए जा रहे बल्ब की गुणवत्ता भी सही नहीं है। जब घर जाकर बल्ब चेक किया तो जला ही नहीं।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???