Patrika Hindi News

सड़क हादसे में घायल BJP पार्षद की मौत, आर्थिक तंगी के कारण नहीं जा पाया Raipur

Updated: IST injured councilor
10 दिन पूर्व 'एक्सीडेंट कैसे होता है दिखाऊं' कहकर वाहन मालिक ने पलटा दी थी कार, पार्षद सहित 3 लोग हो गए थे गंभीर रूप से घायल

कुसमी. 10 दिन पूर्व सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल कुसमी नगर पंचायत के भाजपा पार्षद की इलाज के दौरान 30 नवंबर की रात मौत हो गई। पुलिस ने पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप कर मामले में चालक के खिलाफ 304ए के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

पार्षद के अंतिम संस्कार में स्थानीय भाजपा नेता सहित काफी संख्या में नगर वासी शामिल हुए। बताया जा रहा है कि घायल पार्षद को अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज से रायपुर रेफर कर दिया गया था लेकिन आर्थिक तंगी के कारण परिजन उसे वहां न ले जाकर घर ले आए थे।

बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के नगर पंचायत कुसमी के वार्ड क्रमांक 04 भूरसापारा के भाजपा पार्षद भुनेश्वर खेस पिता स्व. गरजा राम 40 वर्ष अपने ही मोहल्ले के 22 वर्षीय कपिलदेव पिता त्रिभुवन के साथ उसके सोल्ड मारुति ओमनी में सवार होकर 19 नवंबर की रात को शंकरगढ़ के चिरई बिरिया में आयोजित आर्केस्ट्रा कार्यक्रम देखने गए थे।

यहां से वे 20 नवंबर की सुबह अपने घर भूरसापारा पहुंचे। फिर यहां मोहल्ले के 35 वर्षीय तुला राम एवं 35 वर्षीय फलिन्द्र मिल गए। सभी ने एक साथ शराब का सेवन किया और कुछ देर के बाद जशपुर रोड के गलफुल्ला नदी की तरफ घूमने चले गए थे। वाहन को कपिलदेव काफी तेज गति से चला रहा था जिसे आगे की सीट में बैठे पार्षद भुनेश्वर खेस ने गाड़ी धीरे चलाने को कहा था।

लेकिन कपिलदेव नशे में धुत होने के कारण किसी की नहीं सुना और एक्सीडेंट कैसे होता है दिखाऊं, कहते हुए गाड़ी और तेज चलाने लगा था। इसी दौरान आगे ढलान होने से वाहन की गति इतनी तेज हो गई की वह नियंत्रण खो बैठा। इससे वाहन अनियंत्रित होकर पलट गई थी। इस हादसे में पार्षद भुनेश्वर खेस व तुला राम गम्भीर रूप से घायल हो गए थे।

कुसमी स्वास्थ्य केन्द्र से प्राथमिक उपचार के बाद पार्षद भुनेश्वर राम व तुला राम को मेडिकल कालेज अंबिकापुर रेफर किया गया था। दुर्घटना में पार्षद के बायां हाथ टूट गया था उसके सिर, सीने सहित शरीर के अन्य हिस्सों में गंभीर चोटें आई थीं। साथ ही तुला राम के सर में भी गम्भीर चोट आई थी।

आर्थिक स्थिति ठीक नहीं इसलिए नहीं ले जा पाए रायपुर

पार्षद को अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज से रायपुर रेफर कर दिया गया था लेकिन आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने की वजह से परिजन उसे रायुपर न ले जाकर घर ले आए थे। मंगलवार को परिजन उसे अंबिकापुर क्षेत्र के कल्याणपुर में एक वैद्य के पास ले गए थे लेकिन बुधवार की देर रात को वहां उसकी मौत हो गई। गुरुवार को मृतक का कुसमी में अंतिम संस्कार किया गया।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???