Patrika Hindi News

Photo Icon 200 फीट ऊंचे Tower पर चढ़ी सिरफिरी महिला, मनाने पहुंचे SDM के निकले पसीने

Updated: IST woman on tower
वाड्रफनगर-बलंगी मार्ग पर स्थित 45 हजार मेगावाट टावर पर महिला के चढऩे से मचा हड़कंप, प्रशासन व पुलिस की टीम ने विंध्याचल से कोरबा के लिए चालू बिजली को कराया बंद

वाड्रफनगर. बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के वाड्रफनगर-बलंगी मार्ग स्थित रघुनाथनगर के समीप करीब 200 फीट ऊंचे बिजली टावर पर एक सिरफिरी महिला के चढ़ जाने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया है। ग्रामीणों ने महिला को ऊपर देख इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस के काफी प्रयास के बाद भी जब महिला नीचे नहीं उतरी तो एसडीएम को सूचना दी गई।

प्रशासन द्वारा महिला को नीचे उतारने मध्यप्रदेश के बैढऩ से 5 सदस्यीय रेस्क्यू टीम को बुलाया गया है। वहीं विंध्याचल से कोरबा के लिए चालू लाइन को बंद करा दिया गया है।

mad woman on tower

रघुनाथनगर से होकर गुजरने वाली पावर ग्रीड कंपनी की 45 हजार मेगावाट के हाईटेंशन तार के टावर पर मंगलवार की शाम करीब 4 बजे ग्राम जोगीयानी निवासी फूलकुंवर 45 वर्ष चढ़ गई। वह मानसिक रूप से विक्षिप्त है। टावर करीब 200 फीट ऊंचा है। वहां से गुजर रहे ग्रामीणों की नजर जब टावर पर चढ़ी महिला पर पड़ी तो उन्होंने उसे नीचे उतारने काफी आवाज लगाई लेकिन उसने किसी की नहीं सुनी।

इसकी सूचना तत्काल ग्रामीणों ने रघुनाथनगर पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। उसने भी महिला को नीचे उतारने के काफी प्रयास किए लेकिन कोई फायदा नहीं मिला। वहीं पुलिस की सूचना पर एसडीएम अजय कुमार त्रिपाठी भी पहुंच गए।

उन्होंने सबसे पहले चालू लाइन को मध्यप्रदेश के विध्याचल स्थित पावर ग्रीड कंपनी व कोरबा स्थित कंपनी से बात कर बंद कराया। गनीमत रहीं महिला इस दौरान महिला बिजली की चपेट में नहीं आई।

mad woman

वहीं एसडीएम द्वारा महिला को नीचे उतारने मध्यप्रदेश के बेढऩ से 5 सदस्यीय रेस्क्यू टीम को बुलाया गया। देर शाम पहुंची टीम द्वारा महिला को उतारने के प्रयास जारी हैं। इस बीच महिला का उतारने काफी प्रयास किए गए लेकिन महिला टावर के एकदम अंतिम छोर पर पहुंच चुकी थी।

किए गए सुरक्षा के उपाय

एसडीएम द्वारा सुरक्षा के मद्देनजर टावर के नीचे काफी मात्रा में पैरा व रजाई-गद्दों सहित अन्य व्यवस्था की गई, ताकि किसी प्रकार की अनहोनी को टाला जा सके। वहीं महिला के टावर पर चढऩे की खबर क्षेत्र में जंगल में लगी आग की तरह फैल चुकी थी। उसे देखने काफी संख्या में लोग मौके पर जमा थे। महिला टावर पर कब चढ़ी, यह कोई नहीं बता पा रहा है।

देर शाम सुरक्षित उतारा गया

महिला को 5 सदस्यीय रेस्क्यू टीम द्वारा देर शाम 7.10 बजे सुरक्षित उतार लिया गया। बताया जा रहा है कि रेस्क्यू टीम को ऊपर चढ़ते देख महिला आधा दूर तक खुद उतर आई थी, इसके बाद टीम ने उसे उतार लिया। महिला को मौके पर पहुंचे उसके पुत्र जबिंदर सिंह के साथ घर भेज दिया गया। गनीमत रही कि महिला चालू लाइन की चपेट में नहीं आई।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???