Patrika Hindi News

इस बात से गुस्साए अध्यक्ष व पार्षदों ने नपं के गेट पर जड़ दिया ताला, कर्मचारी हो गए कैद

Updated: IST lock in Nagar Panchayat gate
सीएमओ के नदारद रहने से उठाया ऐसा कदम, कार्यालय के मुख्य द्वार पर ताला बंद कर साढ़े 4 घंटे तक किया प्रदर्शन

राजपुर. नगर पंचायत कार्यालय से सीएमओ के नदारद रहने व सब-इंजीनियर को हटाने की मांग को लेकर सोमवार की सुबह लगभग 11.30 बजे नगर पंचायत अध्यक्ष, उपाध्यक्ष व पार्षदों ने मुख्य गेट पर ताला जड़कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। इससे अंदर कार्यरत अन्य कर्मचारी कैद हो गए।

शाम 4 बजे नगर पंचायत अध्यक्ष व जनप्रतिनिधियों ने मांगों के समर्थन में एडिशनल एसपी व थाना प्रभारी को संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन अंबिकापुर के नाम ज्ञापन सौंपा, तब जाकर एडिशनल एसपी ने कार्यालय के मुख्य गेट का ताला खुलवाया। फिर अंदर कैद कर्मचारी बाहर निकले।

गौरतलब है कि नगर पंचायत की स्थापना के बाद से यहां कई अध्यक्ष, उपाध्यक्ष , सीएमओ बैठे मगर आज तक विकास कार्यों के नाम पर मात्र खानापूर्ति ही कि गई। आज भी नगरवासी विकास की बाट जोह रहे हैं। नगर पंचायत में सीएमओ सती यादव ने अगस्त 2016 को पदभार सम्भाला था। इसके बाद 14 जून 2017 से कुसमी सीएमओ एसके दुबे को राजपुर नगर पंचायत का भी पद्भार देकर छुट्टी पर चले गए थे।

नगर पंचायत में 14 जून से न तो पुराने सीएमओ बैठ रहे हंै न तो नए। इससे विकास कार्यों के साथ वृद्धा पेंशन, सामाजिक सुऱक्षा पेंशन, नगर पंचायतों के विभिन वार्डों में लाइट का अभाव, निर्माण कार्यों का भुगतान, कर्मचारियों का वेतन भुगतान नहीं हो रहा है।

साथ ही सब इंजीनियर एमके पंैकरा के हमेशा नदारद रहने के कारण विकास कार्य पूरी तरह से प्रभावित हो गए हैं। इससे नाराज होकर सोमवार की सुबह लगभग 11.30 बजे नगर पंचायत अध्यक्ष विजय सिंह के नेतृत्व में जनप्रतिनिधियों ने नगर पंचायत कार्यालय के मुख्य गेट पर ताला जड़ दिया।

जनप्रतिनिधियों ने कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन कर शुरू कर दिया। जनप्रतिनिधियों ने बताया कि 19 मई 2017 को नगर पंचायत की परिषद की बैठक में यह निर्णय लिया गया था कि सब इंजीनियर महेंद्र कुमार पैंकरा द्वारा ड्यूटी में लापरवाही बरतने के साथ ही जनप्रतिनिधियों से अभद्रता की जाती है। इसके मद्देनजर सब इंजीनियर के स्थानांतरण हेतु सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया था।

जनप्रतिनिधियों द्वारा मुख्य द्वार पर ताला जडऩे से कर्मचारी अंदर ही कैद हो गए थे। शाम लगभग 4 बजे मौके पर पहुंचे एडिशनल एसपी धृतलहरे को जनप्रतिनिधियों ने संयुक्त संचालक नगरीय निकाय के नाम पर अपने मांगों के समर्थन में ज्ञापन सौंपा।

फिर एडिशनल एसपी ने कार्यालय का ताला खुलवाया तब कर्मचारी बाहर निकले। विरोध प्रदर्शन में नगर पंचायत उपाध्यक्ष रोहतास अग्रवाल, पूरनचन्द जायसवाल, सुरेश सोनी, योगेश गुप्ता, महेंद्र गुप्ता, धरम सिंह, अरुण अग्रवाल, सुनील गुप्ता, भीमराज अग्रवाल, पूरन देवांगन, कंवल साय व अन्य लोग शामिल थे।

कुसमी सीएमओ को दिया गया था प्रभार

नगर पंचायत सीएमओ के छुट्टी पर चले जाने के बाद कुसमी सीएमओ को प्रभार दिया गया था। अब आदेश जारी कर कुसमी सीएमओ को सप्ताह में दो-तीन दिन राजपुर में बैठने को कहा जाएगा।

शिवकुमार बनर्जी, एसडीएम, राजपुर

सीएमओ के नहीं बैठने से काम प्रभावित

नगर पंचायत में सीएमओ के नहीं बैठने से सारे विकास कार्य बाधित हो रहे हैं। कई समस्याएं बनी हुई हैं। इसी को लेकर आज ताला जड़कर प्रदर्शन किया गया।

विजय सिंह, नगर पंचायत अध्यक्ष

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???