Patrika Hindi News

किस काम की Biometric! बिना अंगूठा दबाए ही Teacher ले रहे पूरे महीने का वेतन

Updated: IST Biometric machine
सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत प्राप्त जानकारी में हेडमास्टर द्वारा बेटी की शादी के दिन भी स्कूल में उपस्थित होने का मामला आया सामने

राजपुर. राजपुर विकासखंड के स्कूलों में पदस्थ शिक्षकों द्वारा ड्यूटी में घोर लापरवाही बरती जा रही है। एक तो शिक्षक कभी भी समय पर स्कूल नहीं पहुंच रहे हैं। साथ ही एक सप्ताह का एक दिन में ही हाजिरी भरकर पूरे माह का वेतन निकाल ले रहे हैं। इसका खुलासा सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी से हुआ है।

बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के राजपुर से लगे ग्राम धंधापुर निवासी मुकेश कुमार जायसवाल ने सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत बीईओ कार्यालय में आवेदन लगाकर जानकारी मांगी थी। इसके आधार पर खुलासा हुआ कि शासकीय माध्यमिक शाला खोडऱो में पदस्थ शिक्षक देवान साय की बेटी की शादी 25 अप्रैल 2016 को दिन में थी।

शिक्षक देवान साय ने बेटी की शादी के दिन भी स्कूल में उपपंजी में उपस्थित होना बताया है। बायोमेट्रिक मशीन में थम्ब इंप्रेशन होने के बावजूद कूटरचित तरीके से अपने आप को उपपंजी में उपस्थित दिखाकर पूर्ण वेतन प्राप्त कर लिया गया। शिक्षक देवान साय ने 25 से 30 अप्रैल का हस्ताक्षर एक दिन में ही कर पूरे माह का वेतन निकाल लिया गया है।

जिसे हेड मास्टर द्वारा सत्यापित भी किया गया है। जबकि बायोमेट्रिक मशीन में थंब लगाया ही नहीं गया है। माध्यमिक शाला खोडऱो को आदर्श विद्यालय के रूप में चुना गया था। यहां बायोमेट्रिक मशीन लगी है, जिसकी वजह से शिक्षकों का सीएल बहुत जल्द खत्म हो जाता है।

इस कारण स्कूल में पदस्थ समस्त शिक्षकों का थम्ब इंप्रेशन होने के वावजूद अगर मशीन में एंट्री नहीं हुई है तो उन्हें सत्यापन चार्ट में उपस्थित लिखकर उनकी हाजिरी बना दी जाती है। इस तरह से मशीन में थम्ब नहीं लगाने के बावजूद उपस्थिति पंजी में स्वयं को हाजिरी बनाकर वेतन के रूप में मिल रहे शासकीय राशि का दुरूपयोग किया जा रहा है। साथ ही सत्यापन चार्ट में भी गलत जानकारी दी जा रही है।

मामले की चल रही है जांच

मामले की जांच कराई जा रही है। दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।

डीके सिंह, बीईओ

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???