Patrika Hindi News
UP Election 2017

गन्दगी व प्रदूषण के बीच बनने लगीं दीवाली की मिठाइयां 

Updated: IST rasgulla
दीवाली के आते ही मिठाइयों की दुकानों और कारखानों में रौनक बढ़ गयी है। मिठाइयों का बाजार अपने शबाब पर पहुंचने को तैयार हो रहा है।

बांदा। दीवाली के आते ही मिठाइयों की दुकानों और कारखानों में रौनक बढ़ गयी है। मिठाइयों का बाजार अपने शबाब पर पहुंचने को तैयार हो रहा है लेकिन स्वास्थ्य के लिहाज़ से ये मिठाईया कितनी नुकसानदेह हो सकती हैं इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती। गंदगी और मिलावटखोरी इन मिठाइयों की पहचान बनती जा रही है। व्यवसायियों को न तो शासन के निर्धारित मानको की परवाह है और न ही खाद्य विभाग के नियमों का खौफ। उत्तर प्रदेश के बांदा में जब मिठाइयों के प्रतिष्ठानों में जाकर देखा गया तो सेहत के साथ किये जा रहे जानलेवा खिलवाड़ का खुलासा हुआ। देखिये बांदा से दूषित मिष्ठानों पर ये रिपोर्ट-

बांदा ज़िले की मशहूर चुनिंदा मिष्ठान भण्डार जहां किस तरह बांदा के बाशिंदों की सेहत के साथ भयानक खिलवाड़ किया जा रहा है। मिष्ठान निर्माण स्थलों पर न तो सफाई का कोई इंतज़ाम है और न ही इन्हें गंदगी से बचाने की कोई कवायद। जिस जगह मिठाइयां निर्मित की जा रही हैं वहां गंदगी इतनी है कि वहां बैठना भी दूभर हो जाएगा। नालियां बजबजा रही हैं और मख्खियां और दुसरे नुकसानदेह कीट भी मिठाइयों का मज़ा ले रहे हैं लेकिन मिठाई के व्यवसाइयों पर इसका कोई असर नहीं है। गंदगी के बीच दीवाली में मिष्ठान के बाजार को सजाने का इंतिज़ाम जारी है। बांदा शहर के अलावा अतर्रा, नरैनी सहित सभी तहसीलो और टाउन एरियों में भी यही गड़बड़ी धड़ल्ले से जारी है। मिठाइयों में हानिकारक रंग भी डाले जा रहे हैं जो सेहत के लिए बेहद खतरनाक हो सकते हैं।

खाद्य पदार्थों की निगरानी के लिए हालांकि खाद्य विभाग यहां लगातार छापेमारी भी कर रहा है, लेकिन इस कार्रवाई का भी यहां कोई असर होता नहीं दिखता। पिछले 6 महीने में दर्जनों दुकानों का खाद्य विभाग की जांच टीम ने सैम्पल भरा और कई दुकानों के सैम्पल फेल भी निकले जिस पर उन पर जुर्माना भी किया गया लेकिन स्टाफ की कमी से जूझ रहे खाद्य जांच विभाग की कार्रवाई बांदा के मिलावट खोरों के लिए नाकाफी साबित हो रही है। इस सम्बन्ध में जब खाद्य नियंत्रक अधिकारी से पूंछ गया तो उन्होंने कार्रवाई करने की बात कही।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???