Patrika Hindi News

> > > > Klburgi separate bus service for women

कलबुर्गी में महिलाओं के लिए अलग बस सेवा

Updated: IST bangalore news
महिलाओं के लिए सार्वजनिक वाहनों में सफर करने की सुविधा को और सुरक्षात्मक और सुगम बनाने के उद्देश्य से उत्तर-पूर्व कर्नाटक सड़क परिवहन निगम (एनईकेआरटीसी) ने कलबुर्गी में महिलाओं

बेंगलूरु. महिलाओं के लिए सार्वजनिक वाहनों में सफर करने की सुविधा को और सुरक्षात्मक और सुगम बनाने के उद्देश्य से उत्तर-पूर्व कर्नाटक सड़क परिवहन निगम (एनईकेआरटीसी) ने कलबुर्गी में महिलाओं के लिए अगल से सिटी बस सेवा शुरू की है। कुछ विशेष क्षेत्रों के लिए इन बसों का परिचालन मंगलवार से आरंभ भी हो गया।

एनईकेआरटीसी के चेयरमैन इलियास सेत बागबान ने कहा कि निगम द्वारा यात्रियों के लिए शहर में पहले ही सिटी बसों की सेवाएं दी जा रही हैं, लेकिन पीक ऑवर में बसों में काफी भीड़ होने के कारण महिला यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ता था। जिसको ध्यान में रखते हुए यह सेवा शुरू की है। केवल महिलाओं वाली बसों में अधिक महिलाएं यात्री सवार हो सकती हैं क्योंकि पुरुष यात्रियों की अधिकता के चलते महिला यात्री सामान्य बसों में सवार होने से कतराती हैं।

अभी चुनिंदा क्षेत्रों में सेवा

महिलाओं के लिए विशेष बसों की सेवाएं कलबुर्गी विश्वविद्यालय, कलबुर्गी रेलवे स्टेशन, प्रसिद्ध सूफी संत बंदागेसू दराज दरगाह, कलबुर्गी की आईटी-बीटी कंपनियों और कपड़े सिलाई के उद्योगों और अधिक महिला कामगारों वाले क्षेत्रों में शुरू की गई है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में बसों की संख्या 8 है, लेकिन यात्रियों की संख्या बढऩे और परिचालन सफल होने पर बसों संख्या में वृद्धि की जाएगी। महिलाओं के लिए शुरू की गई बसों में महिला यात्रियों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं हो इसके निगम में बसों में महिला परिचालकों को नियुक्त किया है।

बागबान ने कहा कि बेंगलूरु, मैसूरु सहित प्रदेश के विभिन्न शहरों में महिला कर्मचारियों एवं यात्रियों की संख्या काफी अधिक है। एनईकेआरटीसी ने महिलाओं के लिए बस शुरू करने का निर्णय लिया है। यह प्रदेश का ऐसा पहला निगम है, जिसने महिला यात्रियों के लिए अगल से बस सेवा शुरू की है।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

More From Bangalore
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???