Patrika Hindi News

रफ्तार पकडऩे लगी 'ट्रिन ट्रिन''

Updated: IST bangalore news
देश के पहले सार्वजनिक साइकिल साझा (पीबीएस) प्रणाली होने के दावे के साथ शुरू हुई 'ट्रिन ट्रिन' परियोजना रफ्तार पकडऩे लगी है

मैसूरु. देश के पहले सार्वजनिक साइकिल साझा (पीबीएस) प्रणाली होने के दावे के साथ शुरू हुई 'ट्रिन ट्रिन' परियोजना रफ्तार पकडऩे लगी है। पहले पांच सप्ताह में ही पीबीएस में पंजयीन करवाने वालों की संख्या 3000 का आंकड़ा पार कर चुकी है। 44 डॉकिंग स्टेशन से रोजाना करीब 80 साइकिल तक ली जा रही हैं। 4 जून को मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या के उद्घाटन करने के बाद पहले रविवार 11 जून को 219 बार साइकिल अधिग्रहीत की गईं। यह संख्या 25 जून को 397 और 12 तुलाई को 730 तक पहुंच गई। पिछले सप्ताह 71 और साइकिलें और जोड़ी गई हैं।

पीबीएस का परिचालन करने वाली स्थानीय कंपनी ग्रीन व्ही राइड के सागर बताते हैं कि साइकिल अधिग्रहीत होने की दर बहुत हद तक मौसम पर भी निर्भर होती है, बारिश के दरमियान कुछ ही ग्राहक होते हैं। जो मानवरहित डॉकिंग स्टेशन है, वहां पर लोग खासकर बच्चे प्रक्रिया का पालन नहीं कर रहे हैं।

जैसे इसाकिल को रिक्त स्थान पर रखने के बाद फिर स्मार्ट कार्ड को रीडर पर रखते हैं, जिससे हमारे सिस्टम में संबंधित साइकिल अनलॉक अर्थात उपयोग श्रेणी में प्रदर्शित होती है। ऐसा वह बच्चे करते हैं, जिन्होंने प्रशिक्षण के लिहाज से जारी दिखाए गए वीडियो नहीं देखे हैं। ऑपरेटर जहां तक संभव होता है, उपयोगकर्ताओं को पूरी जानकारी दे रहे हैं। बहुत से वरिष्ठ नागरिकों को उतार-चढ़ाव वाले क्षेत्रों में साइकिल की सवारी में परेशानी हो रही है, ऐसे वह ट्रिन ट्रिन का उपयोग करने से कतरा रहे हैं।

बच्चों के नाम भी स्मार्ट कार्ड

अधिकांश अभिभावक यह भी नहीं जानते हैं कि स्मार्ट कार्ड बच्चों के नाम पर भी जारी हो रहे हैं। इसके लिए अभिभावकों को दस्तावेज पर हस्ताक्षर करने होते हैं और बच्चे के साथ ही अपना पहचान पत्र देना होता है।

मुफ्त की सवारी की खातिर 1 घंटा में लौटा रहे साइकिल

अधिकांश स्मार्ट कार्ड धारी, जिनके लिए पहले एक घंटा तक सवारी करना नि:शुल्क है, एक घंटा से पहले ही साइकिल जमा कर दे रहे हैं। हालांकि 50 रुपए की रिचार्ज शुल्क सिर्फ एक माह के लिए होती है, इस दौरान यदि बेशक एक घंटा से कम समय ही साइकिल की सवारी की हो, परंतु माह भर बाद 50 रुपए कार्ड के मार्फत ले लिए जाएंगे।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???