Patrika Hindi News

नोटीस जारी कर मेरा अपमान क्यों किया जा रहा है

Updated: IST bangalore
एमआईएम अध्यक्ष एवं सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि पुणे श

पुणे/हुब्बल्ली।एमआईएम अध्यक्ष एवं सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि पुणे शहर किसी की जागीर नहीं है। पुणे में मुझ पर कोई मामला दर्ज नहीं फिर भी मेरी रैली को अनुमति नहीं दी जाती। नोटीस जारी कर मेरा अपमान क्यों किया जा रहा है। पुलिस मुख्यमंत्री फड़णवीस, उद्धव ठाकरे और शरद पवार को नोटीस जारी करने की हिम्मत दिखाए।

ओवेसी ने कहा कि मैं कुछ गलत बोल रहा हूं तो मुझ पर मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार करें। चाहे तो मुझ पर गोलियां बरसाएं, लेकिन गलत न बोलने पर भी नोटीस जारी कर मेरा अपमान क्यों कर रहे हैं। संविधान से मुझे बोलने का अधिकार मिला है। मुझे अपने विचार प्रकट करने से कोई रोक नहीं सकता। मैं जब तक जिंदा हूं तब तक गरीबों का काम आपसे (सरकार) करवा लूंगा। इससे मुझे कोई रोक नहीं सकता।

पिछली बार मेरी पुणे में रैली हुई थी, उस समय कुछ नहीं हुआ फिर भी आज मेरी रैली को अनुमति नहीं मिल रही थी। मैं जो विचार करता हूं वह सही है या गलत इसका फैसला जनता करेगी, वह अधिकार किसी एक को नहीं है। बता दें कि, कुछ दिन पहले ओवैसी को पुणे में रैली के लिए पुलिस से अनुमति नहीं मिली थी। पार्टी ने दूसरी जगह पर रैली का निर्णय किया था, और इस बारे में बताने पर पुलिस ने अनुमति दी थी।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???