Patrika Hindi News

> > > > Election Commission will Monitor Digital Campaign in UP Election 2017

चुनाव में 'डिजिटल कैंपेनिंग' का लाभ उठाने वालों को EC देगा झटका

Updated: IST Digital Campaign
जो प्रत्याशी डिजिटल माध्यमों से चुनाव प्रचार में लगे हुए हैं या इस माध्यम का प्रयोग करने की सोच रहे हैं वो इस खबर को एक बार जरूर पढ़ लें।

बरेली। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 28 जिलों से आए रिटर्निंग अफसरों का चार दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम गुरूवार को सम्पन्न हो गया। प्रशिक्षण के आखिरी दिन चुनाव में उम्मीदवार द्वारा किए जाने वाले खर्चे की सघन मॉनीटरिंग के तौर-तरीकों को बताया गया। निर्वाचन आयोग ने सभी उम्मीदवारों के लिये व्यय सीमा निर्धारित की है और इसकी मॉनीटरिंग के लिये हर स्तर पर पर्यवेक्षण कर उसका लेखा-जेखा रखने के दिशा निर्देश दिये हैं।

व्यय प्रेक्षक भी होंगे तैनात

इस महत्वपूर्ण कार्य के सुपरविजन के लिए व्यय प्रेक्षक भी तैनात होंगे। प्रशिक्षण में बताया गया कि वर्तमान में प्रचार के नए साधन आईटी का उपयोग उम्मीदवार द्वारा किया जाता है, उस पर भी निगाह रखना होगा। कार्यशाला में आदर्श आचार सहिता, मतदान स्टाफ एवं स्टाफ के वेलफेयर, मतगणना, परिणाम घोषित करने की प्रक्रिया आदि पर विस्तार से चर्चा हुई। अन्तिम प्रहर में ग्रुप डिस्कशन हुआ जिसमें प्रश्नोत्तरी का भी कार्यक्रम रखा गया। जिसमें ट्रेनरों ने रिटर्निंग अफसरों के सवालों के जवाब देकर उनकी जिज्ञासा को शांत किया।

दूसरे चरण की ट्रेनिंग 26 सितम्बर से

रिटर्निंग अफसरों के दूसरे चरण का प्रशिक्षण कार्यक्रम 26 सितम्बर से शुरू होगा जोकि 29 सितम्बर तक चलेगा। पहले चरण में 74 रिटर्निंग अफसरों को ट्रेनिंग दी गई बाकी बचे 74 अफसरों को दूसरे चरण में ट्रेनिंग दी जाएगी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे