Patrika Hindi News
UP Scam

इन छह सीटों पर मुस्लिम मतदाता निर्णायक भूमिका में  

Updated: IST UP Election 2017
20 से 30 प्रतिशत मुस्लिम मतदाता, बदलेगा हार-जीत का समीकरण

बरेली। दूसरे चरण के चुनाव के लिए बुधवार को 11 जिलों की 67 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव हुआ। दूसरे चरण में प्रदेश के उस हिस्से में चुनाव हुआ जहाँ पर मुस्लिम मतदाता निर्णायक भूमिका में हैं। सत्ता विरोधी रुझान और पारिवारिक झगड़े के बाद कांग्रेस से गठबंधन करने वाली समाजवादी पार्टी को अपना वोट बैंक बचाने के कुछ हद तक तो सफलता मिली लेकिन दूसरे दलों के मुस्लिम प्रत्याशी गठबंध की राह में रोड़ा बनते नजर आए।

इन सीटों पर कड़ी टक्कर

बरेली नौ विधानसभा सीट में छह सीट बहेड़ी, मीरगंज, नवाबगंज, भोजीपुरा, शहर और कैंट पर मुस्लिम वोटर 30 प्रतिशत से ज्यादा हैं जबकि फरीदपुर, बिथरी चैनपुर और आंवला सीट पर 20 से 30 प्रतिशत मुस्लिम मतदाता हैं। जिसको ध्यान में रख कर जहाँ बसपा ने चार मुस्लिम प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारे तो गठबंधन की तरफ से तीन प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। बहेड़ी और भोजीपुरा सीट पर सपा और बसपा के मुस्लिम प्रत्याशी आमने सामने थे।

मत मेंहुआबिखराव

कैंट, आंवला, फरीदपुर और बिथरी चैनपुर में गठबंधन की तरफ मुस्लिमों का रुझान रहा जबकि भोजीपुरा में तीन मुस्लिम प्रत्याशी होने से मुस्लिम मतों के बिखराव होने से गठबंधन न रोक सका। बहेड़ी में भी सपा और बसपा के मुस्लिम प्रत्याशी होने पर यहाँ भी मुस्लिम वोटों का बिखराव हुआ और बसपा ने मुस्लिम वोटों में सेंध लगाई। जबकि मीरगंज में बसपा के सुलतान बेग ने मुस्लिम वोटों में खूब सेंध लगाई। शहर में भी बसपा के इंजीनियर अनीस अहमद को भी मुस्लिम वोट मिले। जबकि नवाबगंज सीट में सपा के बागी प्रत्याशी जो कि आईएमसी के टिकट पर चुनाव लड़ रही थी उन्होंने ने भी मुस्लिम वोट में खूब सेंध लगाई।

स्थानीय नेता नहीं बड़े चेहरे पर भरोसा

इस बार के चुनाव में मुस्लिमों ने मतदान में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। ख़ासतौर पर महिलाओं और युवाओं ने मतदान में पूरे जोश के साथ हिस्सा लिया। मुस्लिम इलाकों के पोलिंग स्टेशन पर सुबह से ही महिलाओं और युवाओं की लम्बी-लम्बी कतारें नजर आ रही थी। वोट डालने वाले लोगों की जुबान पर स्थानीय नेताओं का नाम तक नहीं था।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???