Patrika Hindi News

तिम्मापुर में हुई गोलीकांड में घायल एक और युवक की हो गई मौत

Updated: IST killing
सुकमा के तिम्मापुर, ताड़मेटला व मोरपल्ली में सीआरपीएफ के जवानों ने तीन सौ घरों को आग लगा दी थी। आरोपों के बाद जांच आयोग की सुनवाई जारी है।

जगदलपुर. सुकमा जिले में 2011 में हुए कुख्यात आगजनी कांड में घायल एक युवक कक्केम सुक्कु की मंगलवार को मौत हो गई। इस कांड की जंाच टीएमटीडी आयोग में जारी है। इस बीच एक महत्वपूर्ण प्रत्यक्षदर्शी की मौत हो जाने से एक अहम गवाह की जगह खाली हो गई है।

क्रास फायरिंग का बताया था नतीजा

11- 16 मार्च 2011 में सीआरपीएफ व अन्य सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम इस इलाके के दौरे पर थी। इसके बाद खबर आई की तिम्मापुर, मोरपल्ली व ताड़मेटला के तीन सौ घरों को आग लगा दिया गया है। आगजनी का आरोप सुरक्षाबलों पर लगा। सुरक्षाबलों ने इसे क्रास फायरिंग का नतीजा बताया था।

जारी है सुनवाई

आगजनी की इस घटना के बाद ये तीनों इलाके सुर्खियों में आ गए। घटना में राज्य सरकार व तत्कालीन एसएसपी एसआरपी कल्लूरी की किरकिरी होने से सरकार ने आननफानन में एक जांच आयोग का गठन कर दिया। करीब सात साल बाद भी इस आयोग के सामने सुनवाई के लिए प्रत्यक्षदर्शियों के नहीं पहुंचने से जांच की गति धीमी ही है। इधर घटना के कई अहम गवाहों की मौत व कई अन्य को शहर तक नहीं पहुंचने देने की धमकी के चलते इस सुनवाई के नतीजा का जानकारों ने अनुमान लगा लिया है।

पांव में लगी थी गोली

मिली जानकारी के अनुसार गोलीकांड में एक युवक की मौत हो गई थी। वहीं एक अन्य युवक घायल हो गया था। घायल कक्केम सुक्कू को भी इस घटना में पैर में गोली लगी थी। पैर में गोली लगने के बाद से गंभीर रूप से घायल इस युवक का लंबे समय से इलाज चल रहा था। जहां इलाज के दौरान सुक्कू ने भी दम तोड़ दिया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???