Patrika Hindi News

दांतों में इन तीन जगह पर लगते हैं कीड़े

Updated: IST teeth
दो दांतों के बीच या किनारों में कीड़े लगना, दांतदर्द और गैप का कारण बन सकता है।

दांतों में कीड़े लगने की समस्या तब होती है जब जड़ों में लंबे समय तक खाने के अवशेष जमा रहते हैं। ये कीड़े दो दांतों के बीच, मसूड़ों के पास और उनकी जड़ों में लगते हैं। इस समस्या को दूर करने के लिए होम्योपैथी में कारगर दवाएं उपलब्ध हैं। दांत की जड़ों में कीड़ा लगने पर होम्योपैथी दवा थूजा 30 पोटेंसी में दिन में 3 बार दी जाती है।

दो दांतों के बीच या किनारों में कीड़े लगना, दांतदर्द और गैप का कारण बन सकता है। इसके लिए स्टेफिसेग्रिया दवा 30 पोटेंसी में दिन में 3 बार लेनी होती है। मसूड़ों के किनारों में कीड़े लगने पर थूजा व सिफीलिनम 30 पोटेंसी में दिन में 3 बार देते हैं।

कुल्ला करना जरूरी
खाना खाने के बाद दांतों के बीच प्लाक 16 घंटे में बनता है इसलिए 12 घंटे के अंतराल में ब्रश कर लें। कुछ भी खाने के बाद कुल्ला करना न भूलें। यहां बताई गई दवाओं के प्रयोग से 5 मिनट पहले और बाद में कुछ न खाएं।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???