Patrika Hindi News

4 हजार किसान परिवारों के राशनकार्ड निरस्त

Updated: IST Ration card
राज्य सरकार की नई राशन नीति के तहत जिले के करीब 4 हजार किसानों के राशन कार्ड को निरस्त कर दिया गया है। ऐसे परिवारों को सरकारी राशन के आंबटन को रोक दिया गया है।

बेमेतरा. राज्य सरकार की नई राशन नीति के तहत जिले के करीब 4 हजार किसानों के राशन कार्ड को निरस्त कर दिया गया है। ऐसे परिवारों को सरकारी राशन के आंबटन को रोक दिया गया है। करीब 7900 कार्डो के सत्यापन के बाद 4 हजार कृषक परिवार नई राशन नीति के तहत अपात्र पाए गए। इसके साथ आने वाले दिनों में सत्यापन के बाद बड़े पैमाने पर किसानों के राशन कार्ड निरस्त होने की आशंका पैदा हो गई है।

सूची बनाकर कर रहे कार्ड निरस्त
गौरतलब हो कि भूमिहीन कृषक मजदूर व लघु कृषक बताकर राशन कार्ड बनवाएं किसानों के उपार्जन केन्द्रों में धान बिक्री के आधार पर राशन कार्डों का सत्यापन कर पात्र-अपात्र की सूची तैयार कर कार्ड को निरस्त किया जा रहा है। नई राशन नीति के तहत जिले के करीब 46 हजार किसान परिवारों के राशन कार्ड जांच के दायरे में आ गए है। जिसमें निकाय क्षेत्र में 2018 व ग्रामीण क्षेत्र में 44,853 किसान परिवार शामिल हैं।

सभी ब्लॉक में कर रहे सत्यापन
संदिग्ध राशन कार्डों में सबसे अधिक बेरला ब्लॉक में 13,651 है। इसी प्रकार बेमेतरा ब्लॉक में 11,056, नवागढ़ ब्लॉक में 10,177 व साजा ब्लॉक में 9,999 किसान परिवारों का राशन कार्ड जांच के दायरे में है। निकाय बेमेतरा में 509, खम्हरिया में 174, साजा में 150, परपोड़ी में 717, देवकर में 1261 बेरला में 255, नवागढ़ में 266 एवं मारो में 367 किसान परिवारों के राशन कार्ड का सत्यापन होना है।

बेरला ब्लॉक के हितग्राही ज्यादा प्रभावित
बताना होगा कि राशन कार्ड निरस्त होने के प्रकरणों में सबसे अधिक बेरला ब्लॉक के किसान प्रभावित हुए हैं। बेरला ब्लॉक में 1251 किसान नई राशन नीति के तहत अपात्र पाए गए हैं। इसी प्रकार बेमेतरा ब्लॉक में 695, साजा ब्लॉक में 840 व नवागढ़ ब्लॉक में 722 किसानों के राशन कार्ड निरस्त किए गए हैॅ। निकाय बेमेतरा में 108, खम्हरिया में 22, साजा में 18, परपोड़ी में 36, देवकर में 28, बेरला में 15, नवागढ़ में 36 व मारो में 54 किसानों के राशन कार्ड को निरस्त करते हुए सरकारी राशन से वंचित कर दिया गया है।

निर्देशों के तहत कार्रवाई
भूमिहीन किसान बताकर समितियों धान बेचने वाले किसानों के राशनकार्ड निरस्त करने निर्देश जारी हुए हैं। खाद्य अधिकारी भूपेन्द्र मिश्रा के अनुसार, ऐसे किसानों की 5 एकड़ से कम भूमि पाए जाने पर पात्रता परिवर्तित कर संबंधित किसान को लघु किसान की श्रेणी में शामिल कर राशन कार्ड जीवित रखा जा रहा है। उन्होंने बताया कि विभाग का प्रयास है कि कम से कम किसानों के राशनकार्ड निरस्त हो।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???