Patrika Hindi News

इस सरकारी अस्पताल में उपचार करवाना है तो मरीज पानी साथ लेकर आए

Updated: IST Water Crisis at Bemetara District Hospital
अव्यवस्था का आलम यह है कि अस्पताल में जलापूर्ति के लिए लगे बोर में रविवार शाम आई खराबी को सोमवार शाम तक सुधारा नहीं जा सका था।

बेमेतरा. जिला अस्पताल प्रबंधन इलाज के लिए भर्ती मरीजों को मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने में नाकाम रहा है। अव्यवस्था का आलम यह है कि अस्पताल में जलापूर्ति के लिए लगे बोर में रविवार शाम आई खराबी को सोमवार शाम तक सुधारा नहीं जा सका था। जिसकी वजह से मरीजों को प्रसाधन, पेयजल को लेकर काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

रविवार शाम से भटक रहे पानी के लिए
मरीजों के साथ अस्पताल पहुंचे परिजनों ने बताया कि पानी की व्यवस्था को लेकर उन्हें भटकना पड़ रहा है। इस संबंध में अस्पताल प्रबंधन के संबंधित अधिकारी जवाब देने को तैयार नहीं है। अस्पताल में भर्ती मरीज के परिजन महेश साहू ने बताया कि रविवार शाम से पानी के लिए भटकना पड़ रहा है। वहीं सोमवार को भी पानी नहीं मिलने के कारण आधा किमी दूर जलाशय नहाने गए थे। जहां अस्पताल में भर्ती अपने बेटे के लिए डिब्बे में पानी लेकर आए तब कहीं जाकर वह शौचालय जा पाया।

होटल जाकर बुझाई प्यास
रामखिलावन वर्मा ने बताया कि घर से पानी लाएं थे, उसी को दिनभर का चलाएं, लेकिन शाम तक वह भी पानी खत्म हो गया। रामकुमार वैष्णव ने बताया कि अस्पताल में दिनभर पीने की पानी नहीं मिलने से होटल से लाकर प्यास बुझाई। जिला अस्पताल के मरीज व उनके परिजन को शुद्ध जलापूर्ति के लिए वाटर एटीएम में बोर से पानी भरा जाता है। लेकिन बीते दो दिनों से बोर के फेल होने के कारण मरीज को वाटर एटीएम से भी पानी नहीं मिला पा रहा है।

नगर पालिका से नहीं मिला सहयोग
सिविल सर्जन डॉ. वीके श्रीवास्तव के अनुसार बोर फेल होने पर अस्पताल के मरीजों के लिए पानी की व्यवस्था को लेकर नगर पालिका सीएमओ को वाटर टैंकर भिजवाने का आग्रह किया गया था। लेकिन सोमवार शाम तक पालिका प्रशासन द्वारा जिला अस्पताल में वाटर टैंकर नहीं भिजवाया गया।

परिणाम स्वरूप मरीजों के परिजन पानी के लिए दो दिन से भटक रहे हैं। लेकिन कही से भी संतोषजनक जवाब नहीं मिल रहा है। वहीं नगर पालिका सीएमओ होरी सिंह ठाकुर ने बताया कि बिजली नहीं होने के कारण टैंकर में पानी नहीं भर पाया था। सोमवार शाम में विद्युत आपूर्ति बहाल होने पर टैंकर में पानी भरकर जिला अस्पताल भेजवाया गया।

आपातकालीन कक्ष के आरओ हुए फेल
जिला अस्पताल में आपातकालीन कक्ष, लेबर वार्ड के पास लगे आरओ सिस्टम फेल हुए साल भर से अधिक समय बीत चुका है। वर्तमान में मरीज व उनके परिजन पेयजल को लेकर वाटर एटीएम पर निर्भर हैं। वाटर एटीएम के फेल होने की स्थिति में मरीजों के पेयजल के लिए अन्य कोई व्यवस्था नहीं है। कई शिकायतों के बावजूद अस्पताल प्रबंधन द्वारा खराब पड़े आरओ सिस्टम को सुधारने की दिशा में कोई कदम नहीं उठाए जा रहे हैं।

वाटर लेवल डाउन हो गया है
सिविल सर्जन डॉ. वीके श्रीवास्तव का कहना है कि वाटर लेवल डाउन होने से बोर से पानी नहीं आ रहा। सुधार के लिए पीएचई विभाग को पत्र लिखा जाएगा, तत्कालिक व्यवस्था के तहत नगर पालिका सीएमओ को वाटर टैंकर भिजवाने का आग्रह किया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???