Patrika Hindi News

> > > > Bemetara:School siege by angry parents

कंतेली में गुणवत्ताहीन मध्यान्ह भोजन से नाराज पालकों ने किया स्कूल का घेराव

Updated: IST School siege by angry parents
बच्चों को गुणावत्ताहीन मध्यान्ह भोजन परोसे जाने के विरोध में पालकों ने स्कूल का घेराव कर दिया। जहां पालकों ने स्कूल प्रशासन के समक्ष समूह की कार्यप्रणाली को लेकर नाराजगी जाहिर की।

बेमेतरा.समीपस्थ ग्राम कंतेली में बच्चों को गुणावत्ताहीन मध्यान्ह भोजन परोसे जाने के विरोध में पालकों ने स्कूल का घेराव कर दिया। जहां पालकों ने स्कूल प्रशासन के समक्ष समूह की कार्यप्रणाली को लेकर नाराजगी जाहिर की। पालकों ने समूह पर कार्रवाई को लेकर स्कूल के प्रधान पाठक को ज्ञापन सौंपा। पालक अनिल वर्मा के अनुसार स्कूल में गुणवत्ताहीन भोजन परोसे जाने की शिकायत बच्चों द्वारा काफी दिनों से की जा रही थी। कई शिकायतों के बावजूद मध्यान्ह भोजन में सुधार होने की बजाए व्यवस्थाएं और बिगड़ती चली गई। कार्रवाई के अभाव में समूह के सदस्य मनमानी पर उतारू हंै।

बच्चों को परोसा जा रहा गुणवत्ताहीन भोजन

मामला जिला मुख्यालय से तीन किमी दूर ग्राम कंतेली में संचालित सरकारी मिडिल स्कूल में बच्चों को गुणवत्ताहीन भोजन परोसे जाने का है। जहंा कई शिकायतों के बाद भी कार्रवाई नहीं होने को लेकर पालकों में आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीणों ने मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता में सुधार नहीं होने की स्थिति में उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। ग्रामीणों के अनुसार कई शिकायतों के बावजूद मध्यान्ह भोजन में सुधार नहीं हो रहा है। उन्होंने भोजन में सुधार नहीं होने की स्थिति में समूह को हटाने की मांग की है।

आधा बच्चे घर में कर रहे भोजन

ग्रामीण दयासिंह वर्मा के अनुसार गुणवत्ताहीन मध्यान्ह भोजन के चलते स्कूल के करीब आधे बच्चों ने घर में भोजन करना शुरू कर दिया है। बताना होगा कि स्कूल में छात्रों की दर्ज संख्या 222 है। पालक अक्षय निषाद ने बताया कि स्कूल में रोजाना उपस्थिति के आधे से भी कम बच्चों के भोजन करने के बावजूद उपस्थिति पंजी में अधिक दर्ज कर शासन से भुगतान लिया जा रहा है। कक्षा 7 वीं के छात्र गजेन्द्र, किरण, महेश्वर ने बताया कि मध्यान्ह भोजन में मीनू का पालन नहीं हो रहा है।

मीनू का पालन नहीं

गुणवत्ताहीन भोजन परोसे जाने के कारण स्कूल में भोजन करना बंद कर दिया है। एक ही प्रकार की सब्जी कई दिनों तक खिलाई जाती है। भोजन में मीनू के अनुसार पापड़, आचार नहीं दिया जाता, वहीं मीठा खाए महीनों हो चुके हंै। दाल भी काफी पतली परोसी जाती है। स्कूल प्रबंधन को जानकारी होने के बावजूद सुधार के लिए कोई कदम नही उठाएं जा रहे हैं। बेमेतरा बीईओ ओपी टंडन ने कहा कि मध्यान्ह भोजन की जांच के लिए एबीईओ को स्कूल भेजा जाएगा। जांच में दोषी पाए जाने पर समूह पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???