Patrika Hindi News

निरस्त विड्राल फॉर्म पर हो गया 48 हजार का भुगतान

Updated: IST
निरस्त विड्राल फॉर्म पर हो गया 48 हजार का भुगतानजिला सहकारी बैंक बडोरा शाखा का मामला।किसान ने बैतूलबाजार थाने में की शिकायत।

बैतूल। कृषि मंडी बडोरा स्थित जिला सहकारी बैंक बडोरा शाखा से किसान के निरस्त विड्राल फॉर्म पर 48 हजार रुपए का भुगतान होने का मामला सामने आया है। किसान ने इसकी शिकायत बैतूलबजार थाने में कर कार्रवाई की मांग की है। वही बंैक प्रबंधक द्वारा विड्राल फॉर्म भरने वाले किसान को ही भुगतान करने की बात कही जा रही है।
ग्राम रोंढ़ा निवासी किसान तरुण कालभोर ने बैतूलबाजार थाने में की शिकायत में बताया कि उनके पिता गुलाबराव कालभोर का जिला सहकारी बैंक बडोरा शाखा में खाता है। गुलाबराव कालभोर बैंक से भुगतान के लिए 4 अप्रैल 2017 को गए थे। उनके द्वारा 48 हजार रुपए का विड्राल फॉर्म भरा गया। बैंक केशियर के पास विड्राल फॉर्म लेकर पैसे के लिए गए। केशियर ने हस्ताक्षर का मिलान नहीं होने की बात कहकर भुगतान नहीं किया। गुलाबराव विड्राल फॉर्म लेकर मैनेजर प्रवीण वर्मा के पास गए। शिकायत में बताया कि मैनेजर ने विड्राल फॉर्म वापस नहीं किया और पास बुक वापस दे दी। बाद में एंट्री कराने गए तो पता चला कि खाते से 48 हजार रुपए निकल गए। पिता ने विड्राल किया ही नहीं और बैंक ने किसी रितेश नाम के व्यक्ति को भुगतान कर दिया। प्रबंधक द्वारा सीसीटीवी फुटेज भी नहीं दिखाए जा रहे हैं। किसान ने मामले की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई और पैसे वापस दिलाने की मांग की है। इस संबंध में बैंक प्रबंधक प्रवीण वर्मा ने बताया कि 48 हजार रुपए का भुगतान किसान को ही किया गया है। सीसीटीवी फुटेज डिलीट हो गए हैं। रितेश के नाम पर भुगतान को लेकर उन्होंने बताया कि यह लिपिकीय त्रुटि हैं।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???