Patrika Hindi News

गंज में छोटे दुकानदारों को मिलेगी अब पक्की दुकानें

Updated: IST MLA discusses constructing complex from shopkeeper
गंज मंडी में सड़क किनारे अस्थाई दुकान लगाकर रोजी-रोटी चलाने वाले छोटे दुकानदारों को अब पक्की दुकानें मिलने का रास्ता साफ हो गया है। विधायक हेमंत खंडेलवाल के प्रयासों से मंडी प्रांगण में 10 करोड़ 40 लाख की लागत से कमर्शियल काम्पलेक्स का निर्माण नगरपालिका द्वारा कराया जाना है।

बैतूल। गंज मंडी में सड़क किनारे अस्थाई दुकान लगाकर रोजी-रोटी चलाने वाले छोटे दुकानदारों को अब पक्की दुकानें मिलने का रास्ता साफ हो गया है। विधायक हेमंत खंडेलवाल के प्रयासों से मंडी प्रांगण में 10 करोड़ 40 लाख की लागत से कमर्शियल काम्पलेक्स का निर्माण नगरपालिका द्वारा कराया जाना है। काम्प्लेक्स में छोटे दुकानदारों के लिए भी दुकानें निर्धारित की गई है। यह दुकानें उन्हें आप्सेट वैल्यू के अनुसार रियायती दरों पर उपलब्ध कराई जाएगी। सोमवार को गंज मंडी प्रांगण में विधायक ने दुकानदारों की एक बैठक लेकर उन्हें मामले से अवगत कराया।
140 दुकानदार सर्वे में सामने आए
गंज मंडी काम्प्लेक्स निर्माण में छोटे दुकानदारों के लिए पक्की दुकानें आवंटित किए जाने नगपालिका द्वारा सर्वे कराया गया था। सर्वे में 140 दुकानदार सामने आए हैं। इन दुकानदारों को काम्प्लेक्स में 8 बाय 8 की पक्की दुकानें बनाकर दी जाएगी। यह दुकानें आप्सेट वैल्यू के अनुसार दी जाएगी। बाकी दुकानें नीलाम की जाएगी। बताया गया कि इस प्रोजेक्ट की कुल लागत 10 करोड़ 40 लाख है। जिसमें काम्प्लेक्स में कुल 343 दुकानें बनाई जाना है। सोमवार को विधायक ने गंज के छोटे व्यापारियों की बैठक लेकर उनके दुकान संबंधी दस्तावेजों देखें। साथ ही उन्हें भरोसा दिलाया कि प्रत्येक दुकानदार को पक्की दुकानें आवंटित की जाएगी। दुकानदारों ने भी प्रोजेक्ट को लेकर अपनी सहमति जताई है। यह दुकानें रोड से 30 फीट अंदर की तरफ बनाई जाना है। व्यापारियों के लिए सामने की तरफ जो काम्प्लेक्स का निर्माण होगा वह तीन मंजिला होगा। इस प्रोजेक्ट से नगरपालिका को करीब 20 करोड़ रुपए की आय होना है। गंज में दुकानें बनने से जहां शहर अतिक्रमण से मुक्त होगा वहीं नगरपालिका का रेवेन्यू भी बढ़ेगा।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???