Patrika Hindi News

कलेक्टर सर, स्कूल के बड़े सर बोलते नहीं देंगे स्कूल में प्रवेश

Updated: IST Students coming to complain
प्रवेश शुल्क के नाम पर भी मांग रहे 600 रुपए पालकों के साथ जनसुनवाई में पहुंचे छात्र

आमला. ग्राम खेड़लीबाजार के शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल प्राचार्य द्वारा विद्यार्थियों को प्रवेश नहीं दिए जाने के मामले में पालकों समेत विद्यार्थियों ने मंगलवार को जनसुनवाई में आवेदन दिया।

खेड़लीबाजार के पालकों का कहना था कि आठवीं उत्तीर्ण होने के बाद बच्चों को कक्षा नवमीं में प्रवेश दिलाना है। इसके लिए वे दो जून को स्कूल पहुंचे थे पर स्कूल प्राचार्य रामराव देशमुख द्वारा अभद्र व्यवहार करते बच्चों को प्रवेश देने से साफ इनकार कर दिया। उन्होंने बताया कि पूर्व स्कूल में फीस देकर टीस भी प्राप्त कर चुके हैं। इसके बावजूद दस्तावेजों की कमी बताकर बच्चों को प्रवेश देने से मना किया जा रहा है। पालकों ने अपने आवेदन में बताया कि पंद्रह जून को जब दोबारा प्रवेश के लिए हाईस्कूल पहुंचे तो प्राचार्य ने पुन प्रवेश देने से इंकार कर दिया। उन्होंने बताया कि उनके दो बच्चे पहले से माध्यमिक स्कूल में अध्यनरत है। उनसे शुरुआती दौर में बिना किसी रसीद दिए ६००-६०० रुपए प्रवेश शुल्क के नाम पर वसूल किए गए हैं। पालक सूरज लाल हिंगवे, बसंत, देवजी ने बच्चों को स्कूल में प्रवेश दिलाए जाने की मांग की है।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???