Patrika Hindi News

33 प्रकरणों पर महिला आयोग ने की सुनवाई

Updated: IST The commission hearing.
सर्किट हाउस में म.प्र राज्य महिल आयोग की संयुक्त बैंच का आयोजन किया गया।आयोग अध्यक्ष लता वानखेड़े एवं सदस्य गंगा उईके द्वारा 33 प्रकरणों पर एक-एक कर सुनवाई की गई।

बैतूल। महिलाओं से संबंधित प्रकरणों की सुनवाई करने के लिए गुरुवार को सर्किट हाउस में म.प्र राज्य महिल आयोग की संयुक्त बैंच का आयोजन किया गया। आयोग अध्यक्ष लता वानखेड़े एवं सदस्य गंगा उईके द्वारा 33 प्रकरणों पर एक-एक कर सुनवाई की गई। इस आयोजन का उद्देश्य घरेलू हिंसा एवं अन्य कारणों से प्रताडि़त हो रही महिलाओं को त्वरित न्याय उपलब्ध कराया जाना था। आयोग की सुनवाई सुबह 11 बजे से शुरू हुई। प्रत्येक प्रकरणों में आवेदनकर्ता को बुलाया गया और उनसे सवाल-जवाब किए गए। आयोग ने महिलाओं से उनकी सहमति के आधार पर प्रकरणों के निराकरण को लेकर भी चर्चा की। बताया गया कि बैंच में लगभग 33 प्रकरणों पर सुनवाई होना था। इनमें भूमि विवाद, मानसिक प्रताडऩा, दुराचार प्रयास, महिला प्रताडऩा, मारपीट, आत्महत्या का प्रयास, संपत्ति विवाद, दहेज प्रताडऩा एवं कार्यस्थल पर प्रताडऩा जैसे प्रकरण शामिल थे। सुनवाई के दौरान पुलिस अनुविभाग के एसडीओपी भी उपस्थित थे। बताया गया कि कुछ प्रकरणों में पुलिस द्वारा तत्परता से कार्रवाई नहीं किए जाने की शिकायतें भी सामने आई थी। जिस पर आयोग ने नाराजगी जाहिर करते हुए पुलिस को ऐसे प्रकरणों में संवेदनशील रवैया अपनाए जाने की नसीहत दी। सुनवाई के दौरान समाजसेवी मीरा एंथोनी सहित अन्य महिला पदाधिकारी भी उपस्थित थी।
बेटी बचाओ अभियान पर किए हस्ताक्षर
बैतूल। समाजसेवी अनिल यादव द्वारा जिले में चलाए जा रहे बेटी अभियान के तहत हस्ताक्षर अभियान चलाया जा रहा है। गत दिवस बैतूल दौरे पर आए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जहां अभियान को सफल बनाने के लिए हस्ताक्षर का बधाई संदेश बोर्ड पर लिखा। वहीं आज महिला आयोग अध्यक्ष लता वानखेड़े ने भी हस्ताक्षर कर अभियान की सराहना की।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???