Patrika Hindi News
Bhoot desktop

ऐसे तो बेमौत मर जायेंगे किसान, राहत पर लटक रहे ताले

Updated: IST farmers
नोटबंदी के बाद अब किसानों की चिंता बढ़ा रहे ये केन्द्र

भदोही. पांच सौ व हजार रूपये की नोटबन्दी के बाद एक तरफ जहां खेती को लेकर किसानों की चिंता बढ़ी हुई है वहीं कई पीसीएफ केंद्रों के न खुलने के कारण किसानों की परेशानी और बढ़ गयी है। ताजा मामला देवनाथपुर लक्षमनपट्टी पीसीएफ केंद्र का है जो जिलाधिकारी के औचक निरीक्षण में बंद मिला।

पीसीएफ केंद्रों द्वारा वर्तमान में धान का की खरीद के साथ खाद और बीज की बिक्री की जा रही है। धान की फसल को बेचने के साथ खाद, बीज की खरीद के लिए किसानों की सबसे अधिक आस पीसीएफ केंद्रों से ही रहती है। लेकिन लक्षमनपट्टी का केंद्र बन्द होने के कारण इस क्षेत्र के किसानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

किसानों का आरोप है कि यह केंद्र आये दिन बन्द रहता है जिससे खेती की तैयारी में समस्या आ रही है। जिलाधिकारी सुरेश कुमार सिंह ने जब पीसीएफ केंद्र के मैनेजर से पूछताछ की तो बताया गया कि कर्मचारियों के अभाव में केंद्र बन्द रहता है। जिलाधिकारी ने इस समस्या से पीसीएफ को अवगत कराते हुए जल्द ही कर्मचारियों के तैनाती को कहा है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???