Patrika Hindi News

जाट आंदोलन: बातचीत रद्द, गुस्साए जाट करेंगे दिल्ली कूच

Updated: IST haryana jat agitation
जोर-शोर से दिल्ली कूच की तैयारियां करने की बात कही, सरकार पर लगाए भईचारा खराब करने के आरोप

जींद। अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति का ईक्कस गांव में चल रहा धरना आज 48वें दिन भी जारी रहा। सरकार के साथ बातचीत रद होने के बाद आंदोलनकारियों का गुस्सा सातवें आसमान पर दिखाई दिया। सभी लोगों ने दिल्ली कूच की तैयारियां जोर-शोर से करने की बात कही।

धरने की अध्यक्षता संयुक्त रुप से गांव मोहनगढ़ (छापड़ा) के राममेहर नंबरदार वाल्मीकि, गांव समुंदपुर के जोगी समाज से धर्मपाल जोगी, घोघडिय़ां से जांगड़ा समाज के सुभाष जांगड़ा व दालमवाला गांव से जगरुप धानक ने की। राममेहर छापड़ा ने कहा कि हमारा पूरा समाज जाट समाज के साथ है। समाज की 36 बिरादरी जाट समाज के इर्द-गिर्द घुमती है तथा आपस में प्यार-प्रेम से रहते हैं। सरकार आपसी भाईचारा खराब करना चाहती है जो किसी भी सूरत में खराब नहीं होने दिया जाएगा। यह केवल जाट समाज की लड़ाई नहीं बल्कि 36 बिरादरी के भाइयों की लड़ाई है।

जुलाना मंडी आढ़ती एसोसिएशन के महेंद्र सिंह लाठर, प्रवीण, राजेश मलिक, प्रमेंद्र मलिक आदि ने धरने पर पहुंचकर तन, मन तथा धन से सहयोग की बात कही। ब्लॉक समिति की प्रधान के ससुर उमेद सिंह ने कहा कि सिवाहा गांव से 20 टै्रक्टर-ट्रॉली दिल्ली के लिए कूच करेंगे। गांव के सभी महिला व पुरुषों में दिल्ली कूच के लिए पूरा जोश है। जिला परिषद उपाध्यक्ष उमेद सिंह लोहचाब ने घोषणा की कि जिला परिषद के 15 सदस्य दिल्ली कूच में शामिल होंगे। ईश्वर सिंह कंडेला ने कहा कि प्रशसन गांव के सरपंचों व नंबरदारों के माध्यम से दिल्ली कूच में शामिल होने वाले ट्रैक्टर-ट्रॉलियों के मालिकों पर दबाव बना रहा है। इसके लिए जिला प्रशासन की घोर निंदा की गई।

भनवाला खाप के प्रवक्ता किताब सिंह भनवाला ने कहा कि भाजपा के डीएनए में विश्वासघात, धोखा शुरु से ही है। इनकी कथनी और करनी में भारी अंतर है। भाजपा ने हमेशा सांप्रदायिकता और जाति-पाति की नीति अपनाई है। गुजरात में हिंदू व मुसलमानों का कत्लेआम करवाया।

उत्तरप्रदेश में सत्ता की लालसा में मुसलमान व जाटों को लड़वाया और अब हरियाणा में जाति-पाति का जहर फैलाया जा रहा है। धरने को रामायण धरने से पहुंचे झाबर सिंह, ओम सिंह सांगवान, श्यामपाल मोर, सतीश पिंडारा, डॉ. रणबीर राठी, जयनारायण जिलेदार, शामलो कलां के पूर्व सरपंच सूरजीत सिंह मलिक, नफे सिंह ईगराह, शमशेर नगूरां, सुरेश बहबलपुर, राजेंद्र शास्त्री, कुलबीर सिंह आदि ने भी संबोधित किया।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???